लखनऊ (पीटीआई)। उत्तर प्रदेश में भी कोरोना वायरस के खिलाफ केजीएमयू में प्लाज्मा थेरेपी का क्लिनिकल ट्रायल चल रहा है। इस दाैरान हाल ही में कोरोना वायरस को हराने वाले एक 21 वर्षीय युवक ने अपना प्लाज्मा दान किया है। इस संबंध में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस से ठीक हुए इस युवक ने किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय (केजीएमयू) में गंभीर रूप से बीमार कोरोना वायरस रोगियों के इलाज के लिए अपना प्लाज्मा दान कर दिया। केजीएमयू में अब तक कुल सात लोगों ने अपना प्लाज्मा दान किया है। अधिकारी ने कहा कि उनका प्लाज्मा बैंक में रखा गया है और अगले एक साल तक कभी भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

केजीएमयू में प्लाज्मा थेरेपी की टेस्टिंग चल रही

वहीं इस संबंध में केजीएमयू के ब्लड ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग की प्रमुख तूलिका चंद्रा ने शनिवार को बताया, यश ठाकुर ने शुक्रवार की रात मरीज को अपना प्लाज्मा दान कर दिया। उसका ब्लड ग्रुप ओ पॉजिटिव है जो काफी दुर्लभ है। केजीएमयू में 17 कोरोना वायरस मरीज भर्ती हैं जिनमें दो महिलाएं शामिल हैं लेकिन उनमें से किसी को भी प्लाज्मा थेरेपी की आवश्यकता नहीं है। डाॅक्टर चंद्रा कहा कि ऐसे में केजीएमयू प्रशासन ने निर्णय लिया है कि अन्य जिलों के अस्पतालों में भर्ती होने वाले गंभीर रोगियों में जिन्हें प्लाज्मा थेरेपी की आवश्यकता होती है उन्हें यहां लाया जाना चाहिए। वर्तमान में केजीएमयू में प्लाज्मा थेरेपी की टेस्टिंग चल रही है।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk

inext-banner
inext-banner