बोर्ड परीक्षा के लिए केन्द्र बनाने को दो स्तर पर बनेगी समिति

जिला समिति पर होगी केन्द्र बनाने की जिम्मेदारी

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए केन्द्र बनाने के लिए इस बार दो स्तर पर समितियां बनायी जाएंगी. जिलों में परीक्षा केन्द्र बनाने के लिए डीएम की अध्यक्षता में समिति बनेगी. जनपद समिति में अध्यक्ष जिलाधिकारी होंगे. जबकि डीआईओएस सदस्य सचिव, बेसिक शिक्षा अधिकारी सदस्य, सब डिविजन के परीक्षा केन्द्र निर्धारण जिस पर विचार किए जायगा उसके उपजिलाधिकारी सदस्य, जिले के दो वरिष्ठ प्रधानाचार्य (एक ग्रामीण क्षेत्र का होना आवश्यक) भी सदस्य के रूप में समिति में होंगे. जिला समिति के द्वारा प्रिंसिपल व डीआईओएस द्वारा अपलोड व प्रमाणित की गई सूचनाओं के दृष्टिगत ऑनलाइन चयनित परीक्षा केन्द्रों की सूची का परीक्षण एवं ऑनलाइन अनुमोदन किया जाएगा. जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा समिति के सदस्य सचिव के रूप में परीक्षा केन्द्रों के ऑन लाइन अनुमोदन से संबंधित सुस्पष्ट कार्यवृत्त भी तैयार की जाएगी. ये अध्यक्ष द्वारा अनुमोदित होगा.

पहली बार बोर्ड स्तर पर समिति

जिला समिति की ओर से भेजी गई केन्द्रों की सूची पर निर्णय लेने के लिए पहली बार बोर्ड की तरफ से भी परिषद स्तरीय केन्द्र निर्धारण समिति गठित की जाएगी. इसमें बोर्ड सचिव अध्यक्ष, क्षेत्रीय सचिव सदस्य सचिव या नोडल अधिकारी, अपर सचिव प्रशासन सदस्य होंगे. ऑनलाइन चयनित परीक्षा केन्द्रों की सूची का परीक्षण एवं अनुमोदन परिषद की वेबसाइट पर प्रिंसिपल व डीआईओएस द्वार अपलोड व प्रमाणित की गई सूचनाओं के दृष्टिगत परिषद स्तर पर गठित परीक्षा केन्द्र निर्धारण समिति द्वारा किया जाएगा.