यूपी बोर्ड ने परीक्षा के लिए तैयार कराया एप

परीक्षा में शामिल होने वाले प्रत्येक छात्र की डिटेल एप पर रहेगी अपलोड

परीक्षा के दौरान केन्द्र व्यवस्थापकों को दिया जाएगा सिम कार्ड व ऐप

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: सरकार की तरफ से पूरी व्यवस्था है कि यूपी बोर्ड की परीक्षा को नकलविहीन सम्पन्न कराया जाय. इसकी आनलाइन मॉनीटरिंग की भी पूरी तैयारी है. स्पेशल एप डिजाइन कराया गया है जिसमें प्रत्येक छात्र का पूरा डिटेल होगा. पैरेंट्स की भी डिटेल इसमें फीड कर दी गई है ताकि सेंटर पर छात्र को वेरीफाई करने में केन्द्र व्यवस्थापक को कोई समस्या न हो. किसी परीक्षार्थी के स्थान पर कोई दूसरा बैठकर परीक्षा न दे सके. अब यह केन्द्र व्यवस्थापकों पर निर्भर है कि वह इस व्यवस्था को कितना प्रभावी बना पाते हैं.

नकल के लिए चर्चित है यूपी बोर्ड

माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षाएं नकल को लेकर चर्चा में रहती हैं. प्रदेश के कई जिले ऐसे हैं, जहां आज भी छात्र को बेहतर अंकों के साथ पास कराने की जिम्मेदारी ली जाती है. बकायदा सौदा होता है. नकलविहीन परीक्षा सम्पन्न कराने के लिए हाई कोर्ट में याचिका भी दाखिल की जा चुकी है. कोर्ट ने इस पर सरकार से पूरी व्यवस्था का डिटेल मांग लिया है. माना जा रहा है कि सरकार की नई व्यवस्था इसी दिशा में की गई एक पहल है ताकि सबकुछ सेंट्रली भी मॉनीटर किया जा सके.

पते के साथ पैरेंट्स का डिटेल

यूपी बोर्ड की ओर से बोर्ड परीक्षा में फर्जी वाड़ा रोकने और किसी दूसरे के स्थान पर अन्य किसी छात्र के बैठने आदि नकल माफियाओं के मंसूबे को रोकने के लिए ऐप तैयार किया गया है. इस ऐप में केन्द्र में परीक्षा देने वाले प्रत्येक स्टूडेंट्स का नाम, पता, उम्र, पिता का नाम व माता का नाम रहेगा. केन्द्र व्यवस्थापक किसी भी समय स्टूडेंट्स का नाम डालकर पूरी डिटेल देख सकेगे. यूपी बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि बोर्ड की ओर से तैयार ऐप को यूज करने के लिए छह फरवरी को बोर्ड कार्यालय में ट्रेनिंग भी दी जा चुकी है. केन्द्र व्यवस्थाकों को सिम भी बोर्ड की तरफ से दिया जाएगा. इसे वह स्मार्टफोन पर एप डाउनलोड कर सकें.

fact file

यूपी बोर्ड में परीक्षार्थी

6793034

इंटरमीडिएट

3043057

हाईस्कूल

3749977

एक नजर में एप

केन्द्र पर परीक्षा देने वाले प्रत्येक स्टूडेंट्स की पूरी डिटेल

केन्द्र व्यवस्थापक किसी भी समय छात्र का नाम डालकर पूरी डिटेल एसेस कर सकेंगे

इसके परीक्षार्थी के स्थान पर कोई दूसरा परीक्षा नहीं दे पाएगा

एप को यूज करने के लिए बोर्ड कार्यालय ट्रेनिंग दी जा चुकी है

यूपी के प्रत्येक जिले से कुछ टीचर्स पा चुके हैं ट्रेनिंग

टीचर्स अपने जिले में केन्द्र व्यवस्थापकों को देंगे ट्रेनिंग

प्रत्येक केन्द्र व्यवस्थापक को दिया जाएगा सिम और एप