कानपुर। UP Board 10th, 12th Results 2020 Live Updates: उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से आयोजित की जाने वाली हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा का रिजल्ट आज घोषित हो गया। हाईस्कूल में रिया जैन और इंटरमीडिएट में अनुराग मलिक टाॅपर रहे। यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने टाॅपर्स को एक-एक लाख रुपये और लैपटाॅप देने का एलान किया।

कैसे देखें परिणाम
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की अफिशल वेबसाइट upresults.nic.in पर आज दोपहर 12 बजे यूपी बोर्ड कक्षा 10 वीं और 12 वीं के परिणाम ऑनलाइन घोषित करेगा। कोरोना वायरस महामारी के बीच छात्रों को अपने परिणामों की जांच करने के लिए बाहर नहीं जाना पड़ता है। जिनके घर में स्मार्टफोन या कंप्यूटर है, वे घर पर अपने स्कोर आसानी से देख सकते हैं। छात्रों को अपने परिणाम ऑनलाइन जांचने के लिए एक सक्रिय इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए। आपको बस यूपी बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट upresults.nic.in पर जाना है और नीचे बताए गए इन चार चरणों का पालन करना है।

चरण 1: आधिकारिक वेबसाइट upresults.nic.in पर जाएं

चरण 2: यूपी बोर्ड 10 वीं परिणाम लिंक या 12 वीं परिणाम लिंक पर क्लिक करें

चरण 3: सात-अंक का रोल नंबर डालें और सबमिट करें। आपका यूपी बोर्ड परिणाम स्क्रीन पर प्रदर्शित होगा

चरण 4: स्क्रीनशॉट ले या पेज डाउनलोड करके परिणाम को सेव कर लें।

हाईस्कूल का परीक्षा परिणाम 83.31 परसेंट रहा
हाईस्कूल परीक्षा में 30,02,290 संस्थागत और 22,190 व्यक्तिगत सहित कुल 30,24,480 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए। जिनमें से 27,53,185 संस्थागत तथा 19471 व्यक्तिगत सहित कुल 27,72,656 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए एवं 22,97,140 संस्थागत तथा 12,662 व्यक्तिगत सहित कुल 23,09,802 परीक्षार्थी पास हुए। संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 83.44 तथा व्यक्तिगत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 65.03 है एवं संपूर्ण परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 83.31 का है।
कितने लड़के और कितनी लड़कियों ने दिया एग्जाम
हाईस्कूल परीक्षा में सम्मिलित प्रदेश के 2772858 परीक्षार्थियों में से 1490814 बालक तथा 1281842 बालिकायें हैं, जिनमें से 1190888 बालक तथा 1118914 बालिकायें उत्तीर्ण हुई हैं बालकों का उत्तीर्ण प्रतिशत 79.88 तथा बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 87.29 है। सम्पूर्ण परीक्षार्थियों में बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत बालकों के उत्तीर्ण प्रतिशत से 7.41 अधिक है तथा संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत व्यक्तिगत परीक्षार्थियों के उत्तीर्ण प्रतिशत से 18.41 अधिक है।
74.63 प्रतिशत रहा इंटरमीडिएट का रिजल्ट
इंटरमीडिएट परीक्षा में 2518324 संस्थागत 68,015 व्यक्तिगत कुल 2588339 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए जिनमें से 2422978 संस्थागत तथा 61.501 व्यक्तित्व कुल 2484479 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए एवं 1808414 संस्थागत तथा 45,685 व्यक्तिगत कुल 1854099 परीक्षार्थी उत्तीर्ण घोषित हुए। संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 74,64 तथा व्यक्तिगत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 74.28 है, एवं सम्पूर्ण परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 74.63 है।
लड़कों से ज्यादा लड़कियां पास
इस परीक्षा में सम्मिलित प्रदेश के 2484479 परीक्षार्थियों में से 1392675 बालक तथा 1091804 बालिकायें हैं, जिनमें से 9,59,223 बालक तथा 8,94,876 बालिकायें उत्तीर्ण हुई हैं बालकों का उत्तीर्ण प्रतिशत 68.88 तथा बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 81.96 है। सम्पूर्ण परीक्षार्थियों में बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत बालकों के उत्तीर्ण प्रतिशत से 13.08 अधिक है तथा संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत व्यक्तिगत परीक्षार्थियों के उत्तीर्ण प्रतिशत से 0.16 अधिक है।
मार्कशीट कम सर्टिफिकेट में दिखेंगे कई बदलाव
इस बार यूपी बोर्ड की मार्कशीट भी बदली हुई होगी। मार्कशीट में ही कंपार्टमेंट एग्जाम की इंट्री भी होगी। यह जानकारी भी होगी कि कंपार्टमेंट के लिए कब से आवेदन कर सकेंगे। पहली बार मार्कशीट में हिंदी और अंग्रेजी में पूरी डिटेल रहेगी। इंटरमीडिएट में भी इस बार स्टूडेंट्स को कंपार्टमेंट एग्जाम का आप्शन मिलेगा।
स्कूलों को दिए निर्देश
कोरोना काल में सभी पुरानी परंपराएं बदल गई हैं। इस बार रिजल्ट देखने को लेकर भी तमाम बदलाव किए गए हैं। स्कूलों को जहां कोविड-19 की सभी पूरी गाइडलाइन फॉलो करने के लिए कहा गया है वहीं बच्चों को भी ऑनलाइन ही रिजल्ट देखने की अपील की जा रही है।
ऐसे हुई परीक्षा
7,784 सेंटर्स पर हुई थी प्रदेश में परीक्षा, 94 हजार कमरों में हुआ था आयोजन, 395 सेंटर्स थे अति संवेदनशील, 938 सेंटर्स थे संवेदनशील। परीक्षा पर नजर रखने के लिए 2950 स्टेटिक मजिस्ट्रेट की हुई थी तैनाती 1314 सेक्टर मजिस्ट्रेट हुए थे तैनात 1,90,000 हजार सीसीटीवी हुई थी यूज, 75 कंट्रोल रूम से ऑनलाइन मॉनिटरिंग। पिछले साल ऐसा रहा था रिजल्ट हाईस्कूल में 80.07 फीसदी, इंटरमीडिएट 70.06 फीसदी।
उत्‍तर पुस्तिकाओं के मूल्‍यांकन में देरी
यूपी बोर्ड की 10वीं व 12वीं क्‍लास का परीक्षा परिणाम उत्‍तर प्रदेश के डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा शनिवार 27 जून को 12 बजे लोकभवन में जारी करेंगे। यह परीक्षा परिणाम बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्‍ध होगा। कोरोना वायरस लॉकडाउन के कारण इस बार उत्‍तर पुस्तिकाओं के मूल्‍यांकन में हुई देरी। 56 लाख से अधिक परीक्षार्थियों ने इस बार यूपी बोर्ड की हाईस्‍कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए करया था पंजीयन।
1921 में हुआ था यूपी बोर्ड का गठन
यूपी बोर्ड का गठन 1921 में हुआ था। हालांकि बोर्ड एग्जाम का आयोजन 1923 में हुआ था। इस तरह देखा जाए तो यूपी बोर्ड मुख्यालय अपने आप में 99 साल का इतिहास समेटे बैठा है। लेकिन धीरे-धीरे इस इतिहास की महत्ता कम करने की कोशिश की जा रही है। पहले बोर्ड परीक्षा के नियमों से लेकर परीक्षा कार्यक्रम और मूल्यांकन की तैयारी और फिर रिजल्ट जारी होने तक के सभी महत्वपूर्ण कार्य बोर्ड मुख्यालय से होते थे। लेकिन सत्र 2019-20 में बोर्ड परीक्षा का टाइम टेबल डिप्टी सीएम द्वारा जारी किया गया। वहीं इस बार बोर्ड परीक्षा का परिणाम भी लखनऊ से जारी किया जा रहा है। ऐसे में लोगों के मन में आशंका होने लगी है कि कहीं यूपी बोर्ड मुख्यालय भी लखनऊ न ट्रांसफर कर दिया जाए।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari