लखनऊ (उत्तर प्रदेश) (एएनआई)। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस पीड़ितों की संख्या अब तक करीब 5735 तक पहुंच गई है। कोराेना वायरस के महामारी के खिलाफ छिड़ी लड़ाई में आशा की किरण के रूप में एक मामला सामने आया है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक 66 वर्षीय कैंसर से पीड़ित बुजुर्ग को कोरोना वायरस हो गया था। इस दाैरान उसका राजधानी के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) अस्पताल में करीब एक हफ्ते तक उपचार हुआ। एक एक हफ्ते तक हुए उपचार के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

कोरोना वायरस से ठीक होकर घर भेज दिया गया

केजीएमयू के कुलपति एमएलबी भट्ट के अनुसार कोरोना वायरस से ठीक होने वाले व्यक्ति का मई 2019 से अगस्त 2019 तक उनके अस्पताल में कैंसर का इलाज किया गया था। इसके अलावा भट्ट ने एक वीडियो में कहा कैंसर पीड़ित व्यक्ति कोरोना वायरस से ठीक होकर घर भेज दिया गया है। जैसा कि हम जानते हैं कि मधुमेह और कैंसर जैसी सह-रुग्णता वाले लोगों को संक्रमण से उबरने की संभावना कम है। ऐसे में यह मामला एक सकारात्मक संकेत है और हम ऐसे मामलों को आशा की किरण के रूप में देख सकते हैं।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk

inext-banner
inext-banner