ashok.mishra@inext.co.in
LUCKNOW : पूर्व सांसद एवं माफिया अतीक अहमद के ठिकानों पर छापेमारी के दौरान सीबीआई को एक पर्सनल डायरी मिली है जिसमें तमाम राजनेताओं, अफसरों के साथ लाखों रुपये के लेन-देन का ब्योरा है। इस डायरी में अतीक की काले कारोबार और बेनामी संपत्तियों की जानकारियां होने की वजह से सीबीआई ने इसे अपने कब्जे में ले लिया है और इसकी गहन पड़ताल की जा रही है। सूत्रों की मानें तो डायरी में कई बड़े सफेदेपोशों को दिए गये पैसों के अलावा अतीक और उसके गुर्गों द्वारा की जाने वाली जबरन वसूली का पूरा लेखा-जोखा भी है। सीबीआई की स्पेशल क्राइम ब्रांच के एसपी एसके खरे और डिप्टी एसपी प्रशांत श्रीवास्तव ने अतीक के साले जकी अहमद को पहले हिरासत में लेकर इस डायरी में लिखे हिसाब-किताब को लेकर गहन पूछताछ की जिसके बाद उसे गिरफ्तार करने का फैसला ले लिया गया।

अतीक से पूछताछ करने गुजरात जाएगी टीम
इसके अलावा, छापेमारी में अतीक के आवास से कई संपत्तियों के भी दस्तावेज मिले हैं जिनके बेनामी होने की आशंका जताई जा रही है। सीबीआई को अंदेशा है कि अतीक ने इन संपत्तियों को जबरन अपने करीबियों के नाम करवाया है। इसके अलावा बड़े पैमाने पर लेन-देन से जुड़े कागजात, डीवीडी, कंप्यूटर की हार्ड डिस्क, लैपटॉप आदि भी कब्जे में लिए गये है। छापेमारी के दौरान अतीक के आवास और दफ्तर पर सीबीआई को कई लग्जरी गाडिय़ां भी मिली है जिनकी आरसी को जब्त कर लिया गया है। अब सीबीआई यह पता लगाएगी कि इनमें से किस गाड़ी का इस्तेमाल देवरिया की घटना में किया गया था। उसके बाद उसे सीबीआई अपने कब्जे में ले लेगी।

गुजरात जाएगी सीबीआई
छापेमारी के बाद सीबीआई की स्पेशल क्राइम ब्रांच की टीम अब गुजरात जाने की तैयारी में है जहां अतीक सलाखों के पीछे कैद है। सीबीआई के सूत्रों की मानें तो फिलहाल अतीक को यूपी में लाकर जांच करने का इरादा नहीं है। यदि घटना से जुड़े अहम साक्ष्य को जुटाने के लिए जरूरत पड़ती है, तभी उसे निशानदेही के लिए कोर्ट की इजाजत से गुजरात से लाया जाएगा। इससे पहले सीबीआई देवरिया जेल में हुई घटना के बाकी आरोपितों को नोटिस देकर लखनऊ स्थित सीबीआई दफ्तर में तलब कर पूछताछ करेगी।

'इस दरवाजे के आगे नहीं आई पुलिस'
प्रयागराज में दशकों से अपना रसूख बरकरार रखने वाले अतीक पर सीबीआई भारी पड़ गयी। बुधवार को प्रयागराज स्थित अतीक के घर में सीबीआई के अफसरों ने जैसे ही गेट के बाद मुख्य द्वार से घर के भीतर जाने की कोशिश की, अतीक के भाई ने उनको आगाह किया कि 'इस दरवाजे के आगे पुलिस भी आज तक नहीं आई है', यह सुनकर सीबीआई की टीम उसे धकियाते हुए भीतर घुसी और पूरा घर खंगाल डाला।

परिवार को बचाकर रखा
छापेमारी के दौरान सीबीआई के अफसर यह देखकर हैरान रह गये कि अतीक ने अपने परिवार को जरायम की दुनिया से अलग रखा है। उसके घर से सीबीआई को कोई भी असलहा बरामद नहीं हुआ जिससे आशंका जताई जा रही है कि उसने आसपास अपने किसी ठिकाने में ये छिपाकर रखे है। इस वजह से सीबीआई उसके बाकी ठिकानों के बारे में जानकारी एकत्र कर रही है।

National News inextlive from India News Desk