balaji.kesharwani@inext.co.in
PRAYAGRAJ: प्रयागराज की धरती पर आयोजित होने जा रहे कुंभ में यूपी के सीएम का 'योगी' स्वरूप फिर से जनता के सामने होगा. वह अल्प कल्पवास करने के लिए यहां आएंगे. योगी आदित्यनाथ यहां सीएम की हैसियत से नहीं बल्कि गोरखनाथ पीठ के पीठाधीश्वर और नाथ सम्प्रदाय का प्रमुख होने के नाते पहुंचेंगे. उनके साथ यहां नाथ सम्प्रदाय के सैकड़ों संत महात्मा भी मौजूद रहेंगे. वह कितने दिन ऐसा करेंगे? यह अभी स्पष्ट नहीं है. लेकिन, तैयारियां संकेत देती हैं कि वह कई बार यहां आकर रुकेंगे.

पीठाधीश्वर के रूप में मौजूद रहेंगे
सरकारी खर्चे पर योगी आदित्यनाथ का यह कैंप तैयार किया जा रहा है. यह कुंभ मेले की भव्यता व दिव्यता का बेमिसाल नमूना होगा. सेक्टर 15 में तैयार हो रहे अखिल भारतीय योगी महासभा के कैंप में मेले की भव्यता दिखाई देगी. यहां कई आध्यात्मिक आयोजन होंगे. श्रद्धालुओं को योग की शिक्षा दी जाएगी. प्रवचन और राम कथा का भी आयोजन होगा.

सीएम के लिए महाराजा कुटिया
गोरखनाथ पीठ के पीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ के लिए महाराजा कुटिया बनाई जा रही है. सभी पंडालों और कैंम्पों में वुडन फ्लोर पर नई मैटिंग बिछाई जा रही है. सोफा-कुर्सी और मेज के साथ ही दूसरे सामान भी एकदम नए हैं.

पांच को पहुंचे थे सीएम
अपने कैंप का जायजा लेने योगी आदित्यनाथ पांच जनवरी को खुद यहां पहुंचे थे. उन्होंने अखिल भारतीय योगी महासभा के मंत्री चटाईनाथ से व्यवस्था के बारे में पूछा था. साथ ही दस जनवरी को फिर आने के साथ ही इत्मीनान से बैठ कर वार्ता करने का आश्वासन दिया था.

अधिकारी करा रहे हैं तैयारी
अखिल भारतीय योगी महासभा के कैंप में नाथ सम्प्रदाय के संतों ने अभी से डेरा जमाना शुरू कर दिया है. कुंभ में वैसे तो योगी महासभा का कैंप हमेशा से लगता रहा है. लेकिन, इस बार काफी बड़े एरिया में योगी महासभा का कैंप बसाया जा रहा है. यह योगी आदित्यनाथ के सीएम होने का असर है. यही वजह है कि सरकारी विभागों के अधिकारी व कर्मचारी खुद खड़े होकर कैंप की तैयारी करा रहे हैं.

पांच जनवरी को योगी आदित्यनाथ अचानक कैंप में आए थे. काम देख कर वापस चले गए. बैठने के लिए कहा तो बोले दस को आऊंगा तो बैठूंगा. दस तारीख तक कैंप तैयार हो जाएगा. इसके बाद सीएम का अपने कैंप में आना-जाना लगा रहेगा. मेले के दौरान वे जब भी आएंगे, अपने सम्प्रदाय के बीच ही रहेंगे.

-चटाईनाथ

मंत्री, अखिल भारतीय योगी महासभा