- प्रत्याशियों की सुबह देर से हुई शुरू

- परिवार, दोस्त और समर्थकों के साथ बिताया समय

आगरा. नेताओं और प्रत्याशियों में चुनाव की खुमारी रविवार को देखने को मिली. मतदान खत्म होने के बाद सुबह देर से शुरू हुई और चुनाव की व्यवस्तता से दूर पूरा दिन परिवार, दोस्तों और बचे-खुचे चुनावी कार्यो पर बीता. इन लोगों ने काफी रिलेक्स महसूस किया. हालांकि कई नेता अपने रूटीन वर्क में भी लग गए. दैनिक जागरण-आईनेक्स्ट ने मतदान के बाद प्रत्याशियों की लाइफ स्टाइल का जानने की कोशिश की.

दिनभर क्षेत्र में घूमे योगेंद्र उपाध्याय

दक्षिण विधानसभा क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी योगेंद्र उपाध्याय की नींद 7 बजे खुली. उन्होंने बताया कि वे रोजाना सुबह 6 बजे तक उठ जाते हैं. मतदान के बाद देर से उठे. सुबह पूजा-पाठ के साथ दिनचर्या की शुरुआत हुई. परिवार के साथ नाश्ता किया. इसके बाद मंडी में स्क्रूटनी के काम से चले गए. दोपहर में सूचना मिली कि मारूति स्टेट शंकरगढ़ की पुलिया के पास एक पीठासीन अधिकारी की मां और कार्यकर्ता की पत्नी का देहांत हो गया है. उन दोनों शोकाकुल परिवार को ढांढस बंधाने पहुंच गए. इस बीच कार्यकर्ता भी मौजूद रहे. शाम 7 बजे घर लौटे और परिवार के साथ समय बिताया.

बृजेश चाहर ने परिवार संग बिताया समय

फतेहपुरसीकरी से रालोद के उम्मीदवार बृजेश चाहर ने परिवार के सदस्यों के बीच ज्यादा से ज्यादा समय गुजारने के पल ढूंढते रहे. वे फतेहाबाद रोड स्थित मंडी से सुबह 4 बजे घर पहुंचे. सुबह 8 बजे जागे और सुबह का समय बच्चों के साथ बिताया. फिर घर पर ही क्षेत्र के लोगों के साथ बैठ गए और चुनावी जीत पर समर्थकों के तर्क-कुतर्क सुनते रहे. इसी बीच मंडी से स्क्रूटनी का फोन आ गया, तो क्षेत्रवासियों के साथ वहां पहुंच गए. वहां से लौटकर परिवार के साथ समय बिताया.

उदयभान सिंह ने 20 दिन बाद घर की रोटी खाई

फतेहपुरसीकरी के भाजपा उम्मीदवार उदयभान सिंह की दिनचर्या पूरी तरह से चुनावी दिनों की तरह ही रही. वे सुबह सामान्य दिनों की तरह उठे. सुबह योगा किया. नित्यक्रिया के बाद 20 दिन बाद घर में रोटी खाई. इसके बाद समर्थकों के साथ क्षेत्र की जनता से मिलने निकल गए. इस बीच बूथों के अनुसार वोटों का गुणा-भाग लगता रहा. समर्थकों ने नतीजा निकाला कि जीत तक पहुंच चुके हैं. वे रात 8 बजे क्षेत्र से वापस लौटे.