- सत्ता के आगे क्यों नतमस्तक हो जाती है पुलिस

- सपाइयों के खिलाफ कार्रवाई करने से बचती है पुलिस

- सपाई का मामला जहां जुड़ जाता है तो पुलिस थाने से छोड़ देती है आरोपियों

<- सत्ता के आगे क्यों नतमस्तक हो जाती है पुलिस

- सपाइयों के खिलाफ कार्रवाई करने से बचती है पुलिस

- सपाई का मामला जहां जुड़ जाता है तो पुलिस थाने से छोड़ देती है आरोपियों

meerut@inext.co.in

Meerut: meerut@inext.co.in

Meerut: जहां एक ओर प्रदेश के मुखिया अखिलेश यादव अपने नेता और कार्यकर्ताओं को आचरण का पाठ पढ़ाकर झगड़े, मारपीट करने के लिए मना करते हैं. वहीं उनके नेता गुंडाई दिखाकर सारे नियम कानून ठेंगे पर रख देते हैं. पुलिस भी नेताओं के इशारे पर काम कर आरोपियों को थाने से ही छोड़ देती है. दुर्भाग्य से पीडि़त को सपाइयों की दबंगाई और तानाशाही के चलते न्याय नहीं मिल पाता.

बदनाम हो रही है सरकार

सरकार की छवि को सुधारने के लिए हर कार्यकर्ता और नेता की जिम्मेदारी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने भी तय की हुई है. लेकिन मेरठ में तो समाजवादी पार्टी के नेता गुंडाई दिखाने से कहीं नहीं चूकते हैं. जहां चाहे वहीं मारपीट कर गुंडाई दिखाते हैं. पुलिस इन पर लगाम लगाने की बजाय इनके फेवर में सारे काम करती है. सत्ता के नशे में चूर सपाई थाने में अपना गलत काम भी सही कराने में माहिर होते हैं.

ख्0.ख्.ख्0क्भ् को इंचौली के कसेरू बक्सर स्थित वाइन शॉप के सेल्समैन पर सपाइयों ने मारपीट करते हुए फाय¨रग की.

ख्क्.ख्.ख्0क्भ् को कोठा संचालिका को गोली मारने के आरोपियों को छुड़ाने के लिए गुरुवार को सपा नेताओं ने इंस्पेक्टर पर दबाव बनाया था, वर्दी उतरवाने की धमकी भी दी थी.

9.ख्.ख्0क्भ् को अमन गेस्ट हाउस में हैवानियत की सारी हद पार हो गई.दबंगों ने छात्रा को घसीट-घसीटकर पीटा. लाठी-डंडे तक बरसाए.

7.क्.ख्0क्भ् को हनुमान चौक के पास विवि के पूर्व छात्र संघ के महामंत्री ने साथियों के साथ चाइना टाउन रेस्टोरेंट के मालिक को पीटा और दुकान में तोड़फोड़ का प्रयास किया.

म्.ख्.क्ब् को समाजवादी छात्र सभा के प्रदेशाध्यक्ष अतुल प्रधान की गाडि़यों के काफिले ने दो बाइक सवारों को रौंद डाला था. इसके बाद भी अभी तक किसी को हिरासत में नहीं लिया गया था.

ब्.ख्.ख्0क्ब् को जानी खुर्द में सिवालखास विधायक गुलाम मोहम्मद के नेतृत्व में सपा कार्यकर्ताओं ने आधा दर्जन गांवों में साइकिल रैली निकाली. रैली में सपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस की मौजूदगी में ही जमकर हथियार लहराए और हवाई फायरिंग की.

सत्ता के आगे पुलिस नतमस्तक कैसे हो जाती है, इसकी एक बानगी सीसीएस यूनिवर्सिटी में देखने को मिली. सपा छात्र सभा के आफिस पर अध्यक्ष और महामंत्री से किस तरह पुलिस वार्ता कर रही है. किस तरह एसओ नौचंदी विनोद सिंह खेल कर रहे हैं. इस फोटो में साफ देखा जा सकता है. यही वजह है कि पुलिस ने चौकी पर ले जाने के बाद आरोपियों को छोड़ दिया.

इन्होंने कहा..

पूरा मामला मेरे संज्ञान में है. एसओ नौचंदी को जांच कर सख्त कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया है.

सुभाष सिंह बघेल

एसएसपी