-प्रतापगढ़ के अमित शुक्ला टॉपर, प्रयागराज के अनुपम मिश्रा दूसरे और प्रतापगढ़ की मीनाक्षी तीसरे स्थान पर

-उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने इंटरव्यू के सिर्फ 16 दिन बाद घोषित किया फाइनल रिजल्ट

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने गुरुवार रात पीसीएस 2017 का फाइनल रिजल्ट घोषित कर दिया। इसमें विभिन्न विभागों के लिए कुल 676 पदों पर अभ्यर्थियों को सेलेक्ट घोषित किया गया है। दो पदों के लिए इंटरव्यू नहीं कराया गया। तीनों टॉपर प्रयागराज मंडल के हैं। पहले स्थान पर प्रतापगढ़ जिले के कुंडा तहसील निवासी अमित शुक्ला हैं तो दूसरे स्थान पर कब्जा जमाया है प्रयागराज के एमआईजी एडीए कॉलोनी नैनी के रहने वाले अनुपम मिश्र ने। तीसरे स्थान पर प्रतापगढ़ जिले के बेलहा देवी रोड सदर बाजार की मीनाक्षी पांडेय रहीं। चौथे व पांचवें स्थान पर क्रमश: श्रावस्ती जिला के रामपुर पैंडा के शत्रुहन पाठक व मुरादाबाद जिला के मानसरोवर स्कूल के पीछे शक्तिनगर की निधि डोडवाल रहीं।

676 पदों का घोषित हुआ रिजल्ट

बता दें कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की यह परीक्षा सर्वाधिक विवादों से घिरी रही। एग्जाम का पुराना पैटर्न भी इसी परीक्षा के साथ इतिहास बन गया है। इसकी प्री परीक्षा सर्वाधिक विवादित रही। पेपर लीक का मामला उठा तो रोडसाइड पर लगी स्क्रीन तक पर प्रयागराज में परीक्षा निरस्त किये जाने का मैसेज फ्लैश हो गया था। बाद में इस संदेश पर लोक सेवा आयोग ने सफाई दी। इसके मेंस के रिजल्ट को लेकर भी विवाद हुआ। मामला कोर्ट तक पहुंचा। फाइनल रिजल्ट आने में करीब दो साल तक का समय लग जाने के दौरान लोक सेवा आयोग उत्तर प्रदेश के तमाम सदस्य यहां तक कि अध्यक्ष भी बदल गये।

यूपीपीसीएस से जुड़े तथ्य

उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग ने गुरुवार को घोषित किये गये रिजल्ट में 676 पदों पर अभ्यर्थियों का चयन किया है।

इनकी तैनाती प्रदेश के 27 प्रकार के पदों व सेवाओं के लिए की जाएगी

पीसीएस 2017 की मुख्य परीक्षा का परिणाम आयोग ने सात सितंबर को घोषित किया था।

मुख्य परीक्षा में 12295 अभ्यर्थी शामिल हुए थे।

मेंस के बाद 2029 अभ्यर्थी इंटरव्यू के लिए सफल घोषित किये गये।

आयोग में 16 सितंबर से एक अक्टूबर तक इंटरव्यू का आयोजन किया गया।

58 अभ्यर्थी इंटरव्यू में अनुपस्थित रहे।

रिजल्ट में जिन सेलेक्टेड कैंडीडेट्स के नाम के आगे प्रोविजनल शब्द लिखा है उन्हें निर्धारित समय में रिक्वॉयर्ड डाक्यूमेंट्स सब्मिट करने होंगे। ऐसा न करने पर उनका चयन निरस्त हो जाएगा।

वर्जन

प्रश्नगत परीक्षा परिणाम से संबंधित प्राप्तांक व श्रेणीवार, पदवार कटऑफ अंक की सूचनाएं शीघ्र आयोग की वेबसाइट पर अपलोड कर दी जाएंगी। सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के तहत प्राप्त प्रार्थना पत्र स्वीकार नहीं किए जाएंगे।

-जगदीश

सचिव,उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner