तेहरान (आईएएनएस)। ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने गुरुवार को कहा कि अमेरिकी प्रतिबंधों ने ईरान को 'मजबूत' बना दिया है। राष्ट्रपति ने कहा, 'कई दबावों के बावजूद हमने अमेरिका के महत्वपूर्ण सैन्य ठिकानों पर क्षेत्र में मिसाइलों की बौछार करने की हिम्मत दिखाई।' बता दें कि रूहानी इराक में दो अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर 8 जनवरी के ईरानी हवाई हमले का जिक्र कर रहे थे। यह हवाई हमले तीन जनवरी को ईरानी मेजर जनरल कासिम सोलेमानी की हत्या के बाद हुए थे, जिनकी मौत बगदाद हवाई अड्डे के पास एक अमेरिकी ड्रोन हमले के कारण हुई थी।

बढ़े तनाव के बीच बोला ईरान, हम अमेरिका से बातचीत के लिए तैयार लेकिन हटाना होगा प्रतिबंध

अमेरिका ने बना दिया है ईरानियों को ठोस

रूहानी ने आगे कहा, 'यह दुनिया और अमेरिकियों के लिए साबित हो गया है कि ईरान पर अधिकतम प्रतिबंध लगाकर उन्हें दबाव में लाने की उनकी योजना एक मिसकैलकुलेशन थी।' उन्होंने कहा कि अमेरिकी तैनाती ने ईरानियों को मजबूत और अधिक ठोस बना दिया है। मई 2018 में, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने वाशिंगटन को ईरानी परमाणु समझौते से बाहर निकाला और तेहरान के खिलाफ पुराने और नए प्रतिबंध लगाए, इसके अलावा राष्ट्र को एक नए सौदे के लिए दबाने की कोशिश की। इसके जवाब में, ईरान ने इस समझौते के लिए सभी व्यावहारिक प्रतिबद्धताएं छोड़ दीं और कहा कि यह बातचीत नहीं करेगा।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk