सैन फ्रांसिस्को/बंगलुरू (राॅयटर्स)। अमेरिकी सांसद चुक शुमर ने एफबीआई और फेडरल ट्रेड कमीशन को रूस में विकसित फेस एडिटिंग फोटो एप्लीकेशन फेस ऐप की जांच करने के लिए बुधवार को एक पत्र लिखा है। इस ऐप को उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया है। यह स्मार्टफोन एप्लीकेशन वायरल हो गया है। तस्वीरों में किसी के चेहरे को उम्रदराज या युवा दिखाने वाला यह ऐप तेजी से लोकप्रिय हुआ है।

निजी तस्वीरों और डाटा तक पहुंच प्राइवेसी का खतरा
अमेरिकी सांसद शुमर ने एफबीआई डाइरेक्टर क्रिसटोफर रे और एफटीसी चेयरमैन जो सिमंस को लिखे अपने लेटर में बताया है कि इस एप्लीकेशन के इस्तेमाल के लिए यूजर को अपने पर्सनल तस्वीरें और डाटा की फुल या आंशिक एक्सेस देनी पड़ती है। इसे उन्होंने लाखों अमेरिकी नागरिकों की निजता का हनन और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया है।

चुनाव अभियान को लेकर अलर्ट जारी
डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी ने भी बुधवार को अलर्ट मेल जारी करके पार्टी के 2020 प्रेसिडेंशियल उम्मीदवारों को फेस ऐप के इस्तेमाल को लेकर सावधान रहने को कहा है। खासकर इस एप्लीकेशन के रूस में विकसित होने को लेकर वार्निंग दी गई है। सिक्योरिटी चीफ बाॅब लाॅर्ड ने डेमोक्रेटिक प्रेसिडेंशियल अभियानों में शामिल अपने स्टाफ से तत्काल प्रभाव से इस ऐप को डिलीट करने को कहा है, जो पहले इसे इस्तेमाल कर चुके हों। हालांकि इसके कोई सबूत नहीं हैं कि फेस ऐप यूजर्स का डाटा रूसी सरकार से साझा कर रही है।

International News inextlive from World News Desk