वाशिंगटन (एएनआई)। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो की भारत यात्रा से पहले ही अमेरिका ने इंडिया को रूस के साथ एस-400 मिसाइल सिस्टम के समझौते पर चेतावनी दे दी है। उसका कहना है कि अगर भारत रूस के साथ एस-400 मिसाइल सिस्टम का समझौता रद नहीं करता है तो भारत को अमेरिका के काटसा प्रतिबंधों का सामना करना होगा। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के एक बड़े अधिकारी ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा, 'हम भारत समेत अपने सभी सहयोगी देशों से अनुरोध करते हैं कि वह रूस से एस-400 मिसाइल सिस्टम न खरीदें, नहीं तो उन्हें काउंटरिंग अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सेंक्शंस एक्ट (सीएएटीएसए) यानी काटसा प्रतिबंधों  सामना करना पड़ेगा। इस समय हम भारत को कोई और देखने की सलाह दे रहे हैं।'

चीन और पाकिस्तान के नापाक इरादों को आसमान में ही नेस्तनाबूद कर देगा एस-400

पिछले साल ही समझौते पर हुआ था हस्ताक्षर

बता दें कि भारत ने पिछले साल 5 अक्टूबर को नई दिल्ली में 19वें भारत-रूस वार्षिक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के दौरान पांच एस -400 सिस्टम की खरीद के लिए रूस के साथ 5.43 बिलियन डॉलर के सौदे पर हस्ताक्षर किए थे। इस सौदे को लेकर अमेरिका की धमकी के बावजूद भारत ने रूस के साथ यह मिसाइल सिस्टम खरीदने का निर्णय लिया था। इससे पहले अमेरिका ने रूसी लड़ाकू जेट सुखोई सु -35 और S-400 मिसाइल सिस्टम खरीदने के लिए चीन के इक्विपमेंट डेवलपमेंट डिपार्टमेंट (EDD) को प्रतिबंधित कर दिया था। अमेरिका ने इस महीने की शुरुआत में भी अप्रत्यक्ष रूप से भारत को एस -400 की खरीद पर चेतावनी दी थी और कहा था कि रूसी रक्षा सौदा भारत-अमेरिकी हथियारों के सौदे पर प्रभाव डाल सकता है।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk