इरफान के कंकाल पर मुहर लगाएगा डीएनए टेस्ट, लैब में होगी काज ऑफ डेथ की जांच

PRAYAGRAJ: मेहदौरी गांव में एक परिवार की हत्या करने वाले दूसरे परिवार को शुक्रवार को जेल भेज दिया गया। बरामद किए गए जिस कंकाल को पुलिस इरफान का बता रही थी, उसका क्लीयर पोस्टमार्टम नहीं हो सका। कंकाल इरफान का ही है, अब इस बात की पुष्टि के लिए सैंपल डीएनए जांच के लिए भेजा जाएगा। कंकाल से उसकी मौत का कारण भी स्पष्ट नहीं हो सका। ऐसे में काज ऑफ डेथ का पता लगाने की एक सैंपल लखनऊ लैब भेजने के लिए भी सुरक्षित किया गया। माना जा रहा है कि लैब की जांच रिपोर्ट से यह मालूम चल जाएगा कि उसकी मौत कैसे हुई।

नहीं मिल सकी महिला की बॉडी

मेंहदौरी निवासी इरफान व उसकी पत्‍‌नी हुस्ना की हत्या भतीजों और उसके भाई ने ही की थी। मृतक के भाई और भतीजों की निशानदेही पर ही पुलिस ने करेली के जंगल से एक कंकाल बरामद किया था। बरामद कंकाल इरफान का बताते हुए पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया गया। उसकी पत्‍‌नी हुस्ना की बॉडी का पता शुक्रवार को भी नहीं चल सका। मिले कंकाल का स्पष्ट पोस्टमार्टम यहां संभव नहीं हो सका।

कोई संदेह की गुंजाइश न रहे इस लिए इरफान के कंकाल का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा। महिला की बॉडी अभी नहीं मिल सकी है। मामले में गिरफ्तार पांचों आरोपित जेल भेज दिए गए हैं।

बृजेश कुमार श्रीवास्तव,

एसपी सिटी

Posted By: Inextlive