-शहर में स्ट्रीट लाइट के ओपन कनेक्शन वायर से एक ने जान गवाई

-सड़कों के डिवाइडर पर जगह-जगह ओपन हैं स्ट्रीट लाइट के कनेक्शन वायर

बरेली। स्मार्ट सिटी की लचर व्यवस्थाओं में नगर निगम की लापरवाही जानलेवा तक साबित हो सकती है। पीलीभीत बाईपास रोड पर महानगर के पास निगम की ऐसी ही लापरवाही से एक व्यक्ति की जान पर बन आई। यहां रोड के डिवाइडर पर स्ट्रीट लाइट के ओपन कनेक्शन वायर के करेंट से वह जिंदगी की जंग लड़ रहा है। इस घटना के बाद जब दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने शहर के डिवाइडरों पर स्ट्रीट लाइट के कनेक्शन वायर चेक किए तो अधिकतर जगह यह ओपन ही मिले। इन ओपन वायर से आए दिन जानवर भी करंट की चपेट में आ जाते हैं। नगर निगम के प्रकाश विभाग की ऐसी लापरवाही से अधिकारी भी आंखें मूंदे रहते हैं।

लोगों ने एंबुलेंस से भिजवाया अस्पताल

महानगर के पास स्ट्रीट लाइट के पोल से अधेड़ को करंट लगने की घटना सुबह 11 बजे के करीब हुई। घटनास्थल पर जुटे लोगों के मुताबिक करंट लगने से अधेड़ काफी देर तक तड़पता रहा और उसके बाद अचेत हो गया। करंट होने से कोई एकदम मदद को आगे भी नहीं आ सका। इसी बीच लोगों ने पुलिस को भी सूचना दे दी। बाद में लोगों ने हिम्मत जुटाकर लकड़ी के डंडे से उसे पोल से दूर किया। इसके बाद उसे एक प्राइवेट एंबुलेंस से अस्पताल भी भिजवा दिया। इसी बीच पुलिस भी मोके पर आ गई। पुलिस के लेट पहुंचने पर लोगों ने नाराजगी भी जताई।

स्ट्रीट लाइट की मेंटेनेंस में हर तरफ लापरवाही

शहर की सड़कों पर स्ट्रीट लाइट लगाने और इनके मेंटेनेंस पर नगर निगम हर साल करोड़ों रुपए खर्च करता है। इस व्यवस्था को संभालने के लिए नगर निगम में प्रकाश विभाग है। इस विभाग में इंचार्ज के साथ ही कई परमानेंट और टेंप्रेरी कर्मचारी मौजद हैं। यह कर्मचारी स्ट्रीट लाइट को लगाने और उनके मेंटेनेंस में इस कदर लापरवाही बरतते हैं कि यह लापरवाही जानलेवा तक साबित हो जाती है।

पीलीभीत बाईपास रोड

इस रोड पर एयरफोर्स बैरियर से सैटेलाइट तक स्ट्रीट लाइट लगी हुई हैं। रोड के डिवाइडर पर लगी इन स्ट्रीट लाइट को अंडरग्राउंट केबल से कनेक्शन दिया गया है। स्ट्रीट लाइट की पोल की जड़ पर कनेक्शन वायर के ज्वाइंट्स पर काम चलाऊ टैपिंग की गई है। कई जगह यह वायर खुले पड़े हैं। बरसात में इन ओपन वायर से पोल में भी करंट उतर आता है।

100 फुटा रोड

इस रोड पर भी बाईपास से डेलापीर तक डिवाइडर पर स्ट्रीट लाइट लगी हैं। यहां भी सभी पोल्स की जड़ पर कनेक्शन वायर या तो ओपन हैं, या उनमें मामूली टैपिंग की गई है।

सिविल लाइन

सिविल लाइन एरिया की सड़कों पर भी स्ट्रीट लाइट के कनेक्शन वायर जगह-जगह ओपन हैं। नगर निगम के जिम्मेदार अधिकारी कभी भी इस ओर ध्यान नहीं देते हैं। इससे कर्मचारियों की लापरवाही न तो उजगार होती है और न ही उनको इसके लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है।