- 14 दिन से क्वारंटाइन था कर्मचारी, 6 जून को लिया गया था सैंपल

- कासगंज की महिला पैरालाइसिस का इलाज कराने भर्ती हुई थी

बरेली : प्रवासियों के आना कम हुआ तो संक्रमण शहर और अस्पतालों में भर्ती लोगों में निकलने लगा। बीते चार दिनों में शहर के अलग-अलग मोहल्लों के सात लोग जबकि एल-2 अस्पताल में भर्ती चार लोग पॉजिटिव आ चुके हैं। ट्यूजडे को आई 115 रिपोर्ट में 112 निगेटिव, जबकि एसआरएमएस में भर्ती एक प्रसूता, एक महिला मरीज और अस्पताल का एक कर्मचारी पॉजिटिव आया है।

आइसोलेसन वार्ड में भी सफाई करता था कर्मचारी

कोविड-19 एल-2 अस्पताल में काम करने वाला कोरोना पॉजिटिव मिला कर्मचारी बीते 14 दिन से अस्पताल में ही क्वारंटाइन था। दो शिफ्ट में अस्पताल कर्मचारी कार्य कर रहे हैं। इसके चलते वापस काम पर लाने से पहले इसका सैंपल कराया गया। ट्यूजडे को इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग की सर्विलांस टीम के अनुसार कर्मचारी में संक्रमण कहां से आया इसकी चेन तलाशी जा रही है। आशंका है कि वह अस्पताल की सफाई के दौरान किसी के संपर्क में आ गया हो।

बांसमंडी की प्रसूता पांच को हुई थी भर्ती

कोविड एल टू में भर्ती बांस मंडी की प्रसूता का सैंपल छह जून को लिया गया था। वह पांच जून को भर्ती हुई थी और अगले दिन उसने बच्चे को जन्म दिया था। उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद बच्चे को भी उससे अलग कर दिया गया है। साथ ही उसके संपर्क में रहे परिजनों को भी क्वारंटाइन किया जा रहा है। अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि कोरोना संक्रमण उस तक कैसे पहुंचा।

पैरालाइसिस का इलाज कराने आई थी कासगंज की महिला

कासगंज के थाना ढोलना के गांव नगला टांडा निवासी महिला को पैरालाइसिस का अटैक पड़ा था। उसे कासगंज के एक अस्पताल से एंबुलेंस के जरिए कोविड एल टू हॉस्पिटल में लाया गया था। छह जून को ही महिला की सैंपलिंग हुई, जिसकी रिपेार्ट पॉजिटिव आई है। सर्विलांस टीम ने उसके पॉजिटिव होने की जानकारी संबंधित जिले के सर्विलांस अधिकारी को दे दी है।

कोविड एल टू हॉस्पिटल में कार्यरत एक कर्मचारी और दो महिलाओं की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। ट्यूजडे को आई 115 सैंपल की रिपोर्ट में 112 सैंपल निगेटिव पाए गए हैं।

डॉ। रंजन गौतम, जिला सर्विलांस अधिकारी

Posted By: Inextlive