-शादी समारोह से बच्चे का अपहरण कर की हत्या

-वारदात की सूचना पर पहुंचे एसएसपी

बरेली-डिस्ट्रिक्ट में मर्डर का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। बीते 24 घंटे में एक बार फिर से बच्चे समेत दो लोगों की हत्या कर दी गई। भमोरा के मकरनपुर ताराचंद्र में बच्चे का शादी समारोह से अपहरण किया गया था। पुलिस शुरुआत में किसी जानवर का हमला मान रही थी लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या सामने आयी है। एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया।

पानी लेने गया था

भमोरा थाना के मकरनपुर ताराचंद्र निवासी सुरेश की बेटी गुडि़या की मंडे को शादी थी। शादी समारोह का कार्यक्रम मंडी समिति के टीन शेड में था। बारात चढ़ने के बाद खाने का कार्यक्रम चल रहा था। सुरेश के भाई नरेंद्र का 5 वर्षीय बेटा कार्तिक अपनी बड़ी बहन रूपांशी के साथ खेल रहा था। रात में करीब 10 बजे कार्तिक ने बहन से कहा कि उसे भूख लगी है तो रूपांशी खाना लेने चली गई और कार्तिक पास में जग से पानी लेने गया।

झाडि़यों में मिली लाश

परिजनों के मुताबिक जब रूपांशी खाना लेकर आयी तो कार्तिक नहीं मिला। इसी दौरान लाइट भी चली गई। काफी देर बाद भी जब कार्तिक नहीं मिला तो रूपांशी ने बताया और उसकी तलाश की गई। देर रात पुलिस को सूचना दी गई, पुलिस मौके पर पहुंची और उसकी तलाश की लेकिन कार्तिक नहीं मिला। ट्यूजडे सुबह घर से आधा किलोमीटर दूर रेलवे लाइन के किनारे झाडि़यों में उसकी लाश मिली। उसके शरीर पर पीछे गर्दन के पास नुकीले निशान थे। बच्चे के शरीर पर सिर्फ बनियान थी।

दिव्यांग की पीट-पीटकर हत्या

-फरीदपुर के परा मोहल्ले में हुई वारदात

फरीदपुर के परा मोहल्ला में दिव्यांग की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। परिजनों ने दिव्यांग की प्रेमिका के परिजनों पर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है और मामले की जांच कर रही है। जानकारी के मुताबिक 20 वर्षीय शिवम पुत्र बाबू खां फल का ठेला लगाता था। परिजनों के मुताबिक रात में 11 बजे उसके पास किसी का फोन आया तो वह घर से चला गया। 3 बजे उसकी प्रेमिका के परिजनों ने फोन किया कि शिवम की तबियत ठीक नहीं है, उसे ले जाओ। जिसके बाद परिजन उसे प्राइवेट हॉस्पिटल लेकर गए लेकिन उसकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि प्रेमिका के परिजनों ने उसे पकड़ लिया और उसकी पिटाई की और फिर घरवालों को सूचना दी।

इन वारदातों का अभी नहीं खुलासा

इससे पहले शेरगढ़, नवाबगंज, सिरौली और बिथरी चैनपुर में मर्डर की वारदातें हुई हैं, जिनका अभी तक पुलिस खुलासा नहीं कर सकी है।

-शेरगढ़ में युवती हत्या कर शव फेंका गया था। बाग की रखवाली करने वाले ने बाइक भी देखी थी लेकिन अभी तक पुलिस युवती की पहचान नहीं कर सकी है।

- नवाबगंज में मिली लाश के मामले में भी अभी तक खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस की जांच में उसके साथियों का ही हाथ होना सामने आया है। मृतक अपराधिक प्रवृत्ति का बताया जा रहा है।

-बिथरी चैनपुर में विजनेश यादव की हत्या में नामजद आरोपियों में से पुलिस चार दिन बाद भी किसी को अरेस्ट नहीं कर सकी है।

-बिथरी चैनपुर में ही ई-रिक्शा चालक कमल की हत्या में भी पुलिस चार दिन बाद खाली हाथ है। कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है

-सिरौली के बरसेर में बच्चे की हत्या कर शव तालाब में फेंका गया था। तंत्र-मंत्र के चलते हत्या की आशंका है लेकिन अभी तक खुलासा नहीं हो सका है।

बच्चे का शव झाडि़यों में मिला है। बच्चे की गर्दन पर नुकीले निशान मिले हैं। मामले में एक्शन लिया जा रह है। सभी मामलों में गिरफ्तारी के लिए टीमें लगी हैं।

शैलेश कुमार पांडेय, एसएसपी

Posted By: Inextlive