-सीआईएसई बोर्ड स्कूलों में आया नया फरमान, अब स्कूल के ही सब्जेक्ट एक्सपर्ट बनेंगे एग्जामनर

- एक्सपर्ट अपने स्कूल को छोड़ दूसरे स्कूलों का लेंगे प्रैक्टिकल एग्जाम

-काउंसिल तय करेगा कौन किस स्कूल में जाकर लेगा एग्जाम

GORAKHPUR: सीबीएसई बोर्ड की तर्ज पर काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामनेशन (सीआईएसई)बोर्ड ने भी प्रैक्टिकल एग्जाम में चल रही अपनी पुरानी व्यवस्था में बदलाव किया है। हर साल हाई स्कूल और इंटर के प्रैक्टिकल एग्जाम के लिए यूनिवर्सिटी और डिग्री कॉलेज से सब्जेक्ट एक्सपर्ट प्रोफेसर बुलाए जाते थे, लेकिन इस बार 2021 बोर्ड एग्जाम में सीआईएसई स्कूलों के ही सब्जेक्ट एक्सपर्ट टीचर को एग्जामनर बनाया जाएगा। काउंसिल का नया फरमान गोरखपुर के 19 स्कूलों में आ चुका है। इसके बाद स्कूलों ने अपने-अपने एक्सपर्ट टीचर का नाम कांउसिल को भेज भी दिया है। सभी स्कूलों में दूसरे स्कूल के ही एक्सपर्ट प्रैक्टिकल या वाइवा लेंगे। अब भेजे गए नाम में से कौन सा एक्सपर्ट किस स्कूल में प्रैक्टिकल एग्जाम लेने जाएगा इसका डिसिजन काउंसिल करेगी।

आसान नहीं होगा प्रैक्टिकल एग्जाम

स्कूल प्रबंधन की मानें तो अभी तक जो परंपरा चली आ रही थी। उसी पर सभी स्कूल डिपेंड थे। अचानक से हुए बदलाव के बाद आनन-फानन में टीचर्स का सेलेक्शन तो प्रैक्टिकल एग्जाम के लिए कर लिया गया है, लेकिन टीचर्स के लिए ये बिल्कुल नया अनुभव होगा। इसलिए टीचर्स भी प्रैक्टिकल एग्जाम से रिलेटेड जानकारी प्रोफेसर या एक्सपर्ट से ले रहे हैं। इनके लिए पहली बार प्रैक्टिकल एग्जाम कराना आसान नहीं होगा।

छह हजार बच्चे देंगे एग्जाम

गोरखपुर में सीआईएसई स्कूलों की कुल संख्या 19 हैं। इस बार हाई स्कूल और इंटर 2021 बोर्ड एग्जाम में इन सभी स्कूलों के करीब 6 हजार स्टूडेंट शामिल होंगे। अभी तक काउंसिल ने बोर्ड एग्जाम या प्रैक्टिकल की डेट तय नहीं की है। स्कूल प्रबंधन की मानें तो सीबीएसई बोर्ड मार्च से प्रैक्टिकल शुरू कर रहा है तो सीआईएसई बोर्ड भी इसी महीनें से प्रैक्टिकल और ओरल एग्जाम की शुरुआत कर सकता है।

बॉक्स-

सेंटर पर ही चेक होंगी प्रैक्टिकल की कॉपियां

सीबीएसई की ही तर्ज पर सीआईएसई बोर्ड ने इस बार प्रैक्टिकल की कॉपियों का मूल्यांकन स्थानीय सेंटर पर कराने का डिसीजन लिया है। अभी तक प्रैक्टिकल के बाद मूल्यांकन के लिए सारी कॉपियां बोर्ड में भेजी जाती थी। इससे एग्जाम का रिजल्ट डिक्लेयर करने में आसानी होगी और बोर्ड का भी समय बचेगा। स्टूडेंट्स भी प्रैक्टिकल एग्जाम जल्दी खत्म होने से अपना सारा ध्यान मेन परीक्षा में लगा सकेंगे।

सीआईएसई स्कूल- 19

बोर्ड एग्जाम देंगे स्टूडेंट- 6000

हम लोगों ने मीटिंग कर सभी स्कूलों को प्रैक्टिकल के लिए बने नए नियम की जानकारी दे दी है। काउंसिल का निर्देशानुसार एक्सपर्ट टीचर्स की लिस्ट बनाकर भेज दी गई है।

अमरीश चन्द्रा, एग्जीक्यूटिव प्रिंसिपल, सेंट पॉल्स स्कूल

बोर्ड की मीटिंग में प्रैक्टिकल की कॉपियों का मूल्यांकन स्थानीय स्तर पर कराने का संकेत मिल चुका है। इस पहल से बोर्ड का टाइम बचेगा और स्टूडेंट भी अपना ध्यान मेन एग्जाम में लगाएंगे।

अजय शाही, अध्यक्ष, गोरखपुर स्कूल एसोसिएशन