गोरखपुर (ब्यूरो)। डिपार्टमेंट कोऑर्डिनेटर प्रो। राजेश कुमार सिंह ने बताया, जिन कैंडिडेट्स ने एडमिशन के लिए एग्जाम दिया है। वह डिपार्टमेंट में कांटेक्ट कर एडमिशन करा सकते हैं। दरअसल, डिपार्टमेेंट की ओर से यह निर्णय बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट एवं कैटरिंग टेक्नोलॉजी में सीटें खाली होने के कारण लिया गया है। होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग में निर्धारित 60 सीटों में 12 पर एडमिशन हो सका है। डीडीयू में बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट एवं कैटरिंग टेक्नोलॉजी के प्रथम वर्ष में शेष 48 सीटों पर फेस्टिवल के बाद दोबारा एडमिशन शुरू होंगे। फेस्टिव सीजन के कारण फस्र्ट फेज में सभी सीटों को भरने में देरी हुई। डिपार्टमेंट कोऑर्डिनेटर प्रो। सिंह ने बताया, शेष सीटों के लिए एडमिशन की नई तारीख जल्द जारी की जाएगी।

स्टूडेंट स्वादिष्ट व्यंजन बनाने का गुर भी सीखेंगे

बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट एवं कैटरिंग टेक्नोलॉजी की पढ़ाई नवंबर के पहले सप्ताह से शुरू कर दी जाएगी। क्लास का संचालन यूनिवर्सिटी के गेस्ट हाउस में होगा। स्टडी के लिए यहां के किचन को और अत्याधुनिक बनाया जाएगा। शहर के होटलों से यूनिवर्सिटी अनुबंध भी करने की तैयारी कर रहा है, ताकि स्टूडेंट वहां जाकर स्वादिष्ट व्यंजन बनाने के गुर भी सीख सकें। इस चार वर्षीय कोर्स के लिए 60 सीटों पर एडमिशन लिया जाना है।

शत प्रतिशत प्लेसमेंट पर है फोकस

कोर्स का संचालन पूरे प्रोफेशनल तरीके से कराया जाएगा। इसे लेकर दाखिला लेने वाले होटल मैनेजमेंट के स्टूडेंट्स के लिए ड्रेस कोड लागू किया जाएगा। साथ ही उनके प्लेसमेंट पर पूरा फोकस किया जाएगा।

ये कोर्स हैं संचालित

इंट्रोडक्शन टू हॉस्पिटलिटी होटल एंड होटीलियरिंग

टूरिज्म कॉन्सेप्ट एंड लिंकेजेस

बेसिक ऑफ मैनेजमेंट एंड कम्युनिकेशन

इंट्रोडक्शन टू कंप्यूटर्स

फ्रंट ऑफिस ऑपरेशन

एन्वायर्नमेंटल स्टडीज