गोरखपुर (ब्यूरो)। जिला अस्पताल के चाहे एक्स-रे हो या फिर डिजिटल एक्स-रे कराना हो, कोई भी रेडियोलाजिस्ट जिम्मेदारी नहीं निभा रहा है। आलम यह है कि सुबह से लाइन में लगे मरीज व तीमारदार घंटों इंतजार करने के बाद वापस लौटने को मजबूर हैं। आरोप है कि गुरुवार को काफी इंतजार कराने के बाद करीब डेढ़ बजे रेडियोलाजिस्ट ने झल्लाते हुए टेक्नीशियन से डिजिटल एक्स-रे करने से मना कर दिया। इसके बाद मरीज व तीमारदारों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। प्रदीप गौड़ ने बताया कि पिछले चार दिनों से सिटी स्कैन की रिपोर्ट के लिए वह चक्कर लगा रहे हैैं, लेकिन कोई भी जिम्मेदार रिपोर्ट नहीं दे रहा है। जब आओ तब आनाकानी करते हैैं।
अगर ऐसा हुआ है तो यह गलत है। अगर रेडियोलॉजिस्ट ने इस तरह से बिहैव किया है तो इसके लिए उनसे पूछताछ की जाएगी। मरीजों की सेवा करना और जांच करना हमारा ड्यूटी है।
डॉ। जेपीएस सिंह, एसआईसी