GORAKHPUR: दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर यूनिवर्सिटी और विद्या भारती उच्च शिक्षा संस्थान के ज्वाइंट कोऑर्डिनेशन में एक दिवसीय सेमीनार ऑर्गनाइज किया गया। राष्ट्रीय शिक्षा नीति का शिक्षक शिक्षा में क्रियान्वयन-पाठ्यचर्या, प्रारूप व विकास के विशेष संदर्भ में विषयक संगोष्ठी का आयोजन सोमवार को संवाद भवन में किया गया। उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता करते हुए वीसी प्रो। राजेश सिंह ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति विश्वविद्यालय परिसर समेत सभी स्तर पर शिक्षा में पूर्णतया लागू हो इसके लिए अध्यापक शिक्षा से संबंधित पाठ्यक्रमों में शिक्षकों व विद्यार्थियों को बहुत अहम भूमिका निभानी होगी। कहा कि 100 अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों को फेलोशिप, पीएचडी स्कॉलर्स को 10 हजार रुपए मासिक, अर्न बाय लर्न के तहत 500 विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ साथ रोजगार देने की तैयारी की है। विश्वविद्यालय में खेलो इंडिया के तहत अंतरराष्ट्रीय स्तर के आठ लेन के सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक, स्वीमिंग पूल, बहुउद्देशीय भवन के प्रस्ताव को राज्य सरकार की संस्तुति मिल चुकी है। पहली बार विश्वविद्यालय की ओर से ऑनलाइन रेट परीक्षा का आयोजन किया गया। साक्षात्कार प्रक्रिया भी सफलता पूर्वक गतिमान है। साक्षात्कार में शामिल अभ्यर्थियों में 90 फीसदी अभ्यर्थी पूवरंचल तो 10 फीसदी 10-12 राज्यों से हैं।