- गोरखपुर सिटी में 5.8 मिलीमीटर बारिश, दर्जनों इलाके फिर पानी से घिरे

GORAKHPUR: मानसून पीरियड में गुरुवार सुबह हुई झमाझम बारिश ने एक बार फिर शहर को डुबो दिया। महज डेढ़ घंटे की बारिश में आधा सिटी पानी से घिर गया। सिटी के लगभग सभी मुख्य मार्ग पूरी तरह जलमग्न नजर आए। बारिश रुकने के बाद बड़ी संख्या में आबादी जलभराव के चलते घरों में कैद हो गई या फिर जलभराव के बीच से लोग अपने गंतव्य तक पहुंचे। उन इलाकों में समस्याएं और भी अधिक बढ़ गईं, जहां पहले से बारिश का पानी जमा था।

फिर डूब गए कई एरिया

आपदा प्रबंधन के गौतम गुप्ता ने बताया, मौसम विभाग ने गुरुवार को बारिश का औरेंज और यलो अलर्ट घोषित किया था। दिन में 5.8 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई। शुक्रवार को यलो अलर्ट रहेगा। गोरखपुर में मध्यम जबकि महाराजगंज, सिद्धार्थ नगर, कुशीनगर, बलरामपुर आदि स्थानों पर तेज बारिश हो सकती है। गुरुवार को हुई वर्षा से शहर के बैंक रोड, गोलघर से लेकर रेती रोड, घोष कंपनी, बक्शीपुर, साहबगंज, मिर्जापुर, लालडिग्गी, गोरखनाथ, नथमलपुर, विकास नगर, विस्तार नगर, रामजानकी नगर, बशारतपुर, भेडि़यागढ़, विष्णुपुरम, असुरन, मेडिकल रोड, मोहद्दीपुर, कूड़ाघाट, सिंघडि़या, दाऊदपुर, तारामंडल रोड आदि इलाकों में जलभराव हो गया।

नगर निगम के बजने लगे फोन

गुरुवार को डेढ़ घंटे की बारिश में शहर के विभिन्न एरियाज में जलभराव हो गया। इसके बाद नगर निगम के कंट्रोल रूम में घंटी बजने लगी। भेडि़यागढ़ के आदित्य ने जहां जलभराव होने की शिकायत की। वहीं, न्यू कजाकपुर की रहने वाले कविता पांडेय ने भी वॉटर लॉगिंग की शिकायत की। राधिका कॉम्प्लेक्स के जयवर्धन सिंह ने भी शिकायत दर्ज कराई। सुबह से लेकर शाम तक कंट्रोल रूम में जलभराव की तकरीबन 50 कंप्लेन आई।

घरों व दुकानों में घुसा पानी

महज डेढ़ घंटे हुई तेज बारिश से कई मोहल्लों की हालत खराब हो गई। शहर के दर्जन भर इलाकों के घरों व दुकानों के अंदर पानी घुस गया। इससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। दोपहर करीब एक बजे बारिश की रफ्तार कम होते ही नगर निगम की टीम हरकत में आ गई।

डीएम ऑफिस कैंपस में जलभराव फोटो

दिन में हुई बारिश के चलते कलेक्ट्रेट परिसर में जलभराव हो गया और जिला अस्पताल के इर्द-गिर्द भी जलभराव हो गया। इससे लोगों को पानी के बीच से निकलकर आवागमन करना पड़ा।

वर्जन

टीम शहर के नालों की सफाई के साथ ही जलभराव वाले इलाकों में काम कर रही है। जिन इलाकों में पानी जमा है, वहां पंपिंग सेट के जरिए पानी निकाला जा रहा है। जल्द ही स्थिति सामान्य हो जाएगी।

- अविनाश सिंह, नगर आयुक्त गोरखपुर