-लॉकडाउन के दौरान कोविड-19 सीएम हेल्पलाइन-1076 में आने वाली कंप्लेन का फर्जी निस्तारण कर दिया

-शिकायतकर्ताओं से फीडबैक लेने पर खुली कंप्लेन डिस्पोजल की पोल, 32 कंप्लेन डिफाल्टर व 16 पेंडिंग

KANPUR: नगर निगम के कर्मचारी न तो डीएम की सुनते हैं और न सीएम की। कम से कम उनका काम करने का रवैया तो यही बता रहा है। लॉकडाउन के दौरान कोविड-19 सीएम हेल्पलाइन-1076 को लोगों की मदद के लिए खोला गया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी इस पर आने वाली शिकायतों को गंभीरता से लेने के लिए कहा था। लेकिन, कर्मचारियों ने शिकायतों का कागजों पर ही फर्जी निस्तारण कर दिया। शिकायत करने वालों से जब फीडबैक लिया गया तो हकीकत सामने आई। शिकायतकर्ताओं के मोबाइल पर मैसेज आया कि आपकी शिकायत का निस्तारण कर दिया गया है।

सफाई की शिकायतें अधिक

लॉकडाउन की जारी नई गाइडलाइन में सीएम पोर्टल पर आने वाली शिकायतों के लिए टाइमलाइन भी तय की गई थी। सेनेटाइजेशन के लिए 24 घंटे और सफाई के लिए 48 घंटे का समय निर्धारित किया गया था। कोविड-19 के बढ़ते केसेस के बीच भी शिकायतों का निस्तारण कागजों पर कर दिया गया। अपर नगर आयुक्त भानु प्रताप सिंह ने जेडएसओ को कड़े निर्देश दिए हैं कि तत्काल 32 शिकायतों को निस्तारित किया जाए। सीएम पोर्टल की 16 शिकायतें लंबित भी हैं।

--------------

ये प्रमुख शिकायतें डिफाल्टर

आवेदक शिकायत का प्रकार एरिया

प्रदीप सफाई नौबस्ता

जितेंद्र सिंह सफाई राजीव विहार

विनय सैनेटाइज श्याम नगर

शाकिब खान सफाई ट्रांसपोर्ट नगर

हसन नाली सफाई तिवारीपुर

धनंजय शुक्ला सफाई एच ब्लॉक, किदवई नगर

सीके शुक्ला सेनेटाइजेशन काकादेव

सुनील सिल्ट उठान अशोक नगर

--------------

शिकायतकर्ताओं से फीडबैक लिया गया तो पता चला कि शिकायत का निस्तारण किया ही नहीं गया है। इसके लिए कर्मियों और संबंधित अधिकारियों को शिकायत पर गंभीरता से काम करने के लिए कहा गया है। सीएम हेल्पलाइन की 32 कंप्लेन डिफाल्टर और 16 लंबित हैं।

-भानु प्रताप सिंह, अपर नगर आयुक्त, नगर निगम।

Posted By: Inextlive