- चिनहट सीएचसी के स्वास्थकर्मी के तीन दोस्त भी संक्रमित

LUCKNOW:

शहर में कोरोना का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को नौ जीआरपी जवानों समेत 16 लोगों को अपनी गिरफ्त में ले लिया। शहर में सात मई को कोरोना पर ब्रेक लगा था। इसके बाद से लगातार वायरस का हमला जारी है। वहीं दूसरी ओर 4 और मरीजों ने कोरोना को शिकस्त दी। सभी लोकबंधु हॉस्पिटल में भर्ती थे।

पारा में दुर्गा मंदिर एरिया बना हॉटस्पॉट

जिन 16 मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई है उनमें नौ जीआरपी के जवान, 1 न्यू हैदराबाद व 1 बारूदखाना , 3 चिनहट सीएचसी के कर्मी के तीन दोस्त, एक जीआरपी जवान की बेटी और एक दिल्ली से लौटा कृष्णा नगर निवासी कामगार है। ऐसे में अब संक्रमितों की संख्या बढ़कर 396 हो गई है। वहीं पारा स्थित दुर्गा मंदिर को हॉटस्पॉट बनाया जाएगा। दोनों नए इलाकों का स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सर्वे शुरू कर दिया है। लक्षणों के आधार पर परिवार के सदस्य व मरीज के संपर्क में आने वालों की जांच कराई जाएगी।

नौ हजार लोगों का जुटाया ब्योरा

सीएमओ की टीम ने 2239 घरों में सर्वे किया। इसमें 9978 लोगों का स्वास्थ्य ब्योरा जुटाया गया। वहीं 291 लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया।

जीआपी मुख्यालय 48 घंटे के लिए बंद

एडीजी जीआरपी के स्टाफ ऑफिसर का ड्राइवर सोमवार को कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव मिलने पर हड़कंप मच गया। आनन-फानन ड्राइवर को हॉस्पिटल भेजने के बाद मुख्यालय को सेनेटाइज कराकर 48 घंटे के लिये बंद कर दिया गया है। एडीजी रेलवे संजय सिंघल के स्टाफ ऑफिसर रफीक अहमद के ड्राइवर में बीते दिनों कोरोना के लक्षण दिखाई दिये। जिस पर उसका कोरोना टेस्ट कराया गया था। सोमवार को आई रिपोर्ट में वह पॉजिटिव निकला। यह पता चलते ही मुख्यालय में अफरातफरी फैल गई। ड्राइवर को इलाज के लिये हॉस्पिटल भेजा गया साथ ही स्टाफ ऑफिसर रफीक अहमद को होम क्वारंटाइन करवा दिया गया। इसके अलावा पूरे दफ्तर को सेनेटाइज करने के साथ ही 48 घंटे के लिये बंद कर दिया गया। बताया गया कि इस दौरान एडीजी रेलवे सिग्नेचर बिल्डिंग के किसी अन्य तल पर बैठेंगे।

Posted By: Inextlive