- भाई अशरफ के साले का था अवैध मकान

- कौशांबी के हटवा गांव में पीडीए ने की कार्रवाई

- माफिया के रिश्तेदारों में खलबली, सता रहा डर

PRAYAGRAJ: माफिया सरगना पूर्व सांसद अतीक अहमद व उसके गुर्गो के खिलाफ प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) लगातार शिकंजा कस रहा है। शनिवार को अतीक के भाई अशरफ के साले जैद का आलीशान मकान ध्वस्त करा दिया गया। पड़ोसी जिले कौशांबी के पूरामुफ्ती थाना अंतर्गत हटवा गांव में कुख्यात अपराधी जैद ने बिना नक्शा मंजूर कराए करीब सात सौ वर्ग गज में यह मकान बनवाया था। इस कार्रवाई से अतीक के रिश्तेदारों में खलबली मच गई है।

मकान 2015 में बनवाया गया था

हटवा गांव में प्रयागराज-कानपुर रोड पर यह मकान 2015 में बनवाया गया था। करीब ही लगभग आठ सौ वर्गगज जमीन भी बाउंड्री करके कब्जा कर ली गई थी। दोनों जमीन की कीमत करीब 12 करोड़ रुपये आंकी गई है। शनिवार सुबह 10 बजे के आसपास पीडीए के जोनल अधिकारी सतशुक्ला, विशेष कार्याधिकारी आलोक पांडेय, 50 मजदूर, छह जेसीबी व एक पोकलैंड लेकर हटवा गांव पहुंचे। पूरामुफ्ती और दूसरे थाने की फोर्स आ गई। देखते ही देखते वहां भीड़ जमा होने लगी तो पुलिस ने डंडा पटककर खदेड़ दिया। इसके बाद मकान के भीतर रखा बेड, गद्दा, फर्नीचर समेत दूसरे सामान को बाहर निकलवा दिया गया, जिसे घरवाले उठा ले गए। फिर जेसीबी व पोकलैंड लगाकर मकान को गिराने की कार्रवाई शुरू की गई। दोपहर तीन बजे तक ध्वस्तीकरण की कार्रवाई चलती रही। मकान गिराने के बाद बाउंड्री को भी गिराकर जमीन खाली करवा ली।

यहीं से गिरफ्तार हुआ था अशरफ

पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ फरारी के दौरान अपने साले जैद के घर में ही छिपा था। बीती तीन जुलाई को पुलिस ने अशरफ को इसी मकान से गिरफ्तार किया था। प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद अशरफ फरार हो गया था। वह चार मुकदमों में वांछित था और गिरफ्तारी न होने पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था। अशरफ को शरण देने और मदद करने के आरोप में उसके चार सालों समेत आठ लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।