लखनऊ (ब्यूरो)। कुछ महीने पहले दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने ट्रैक्टर ट्राली को ओवरलोड करके सवारी ढोने के खिलाफ अभियान चलाया था, जिसमें मानकों को तार-तार किए जाने की बात सामने आई थी। इटौंजा में जिस ट्रैक्टर ट्राली से हादसा हुआ उसमें भी कोई नंबर प्लेट नहीं थी। न ही उसके मानक पूरे थे। हादसा भले ही ट्रक की टक्कर के चलते हुआ हो लेकिन कहीं न कहीं ट्रैक्टर मालिक भी इसका दोषी है। हादसे के बाद भी सबक नहीं लिया गया। इटौंजा व बीकेटी में दिन भर ओवरलोड ट्रैक्टर ट्राली हाईवे पर दौड़ती रहीं। नवरात्रि का पहला दिन होने के चलते सैकड़ों की संख्या में लोग चंद्रिका देवी व अन्य मंदिरों में दर्शन के लिए ग्रामीण इलाके से ट्रैक्टर ट्राली में भर कर आते रहे। डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने पुलिस को निर्देश दिए हैं कि ऐसे ट्रैक्टर ट्राली के खिलाफ कार्रवाई करें।

बच्चों को गले लगाया
डिप्टी सीएम ने इंटौजा हादसे पर गहरा दुख जाहिर किया है। उन्होंने बताया कि इंटौजा सीएचसी में 36 घायलों का इलाज चल रहा है। इनमें कई बच्चे शामिल हैं। उन्होंने बच्चों को गले लगाकर सांत्वना दी। एक घायल को केजीएमयू रेफर किया गया, जहां घायल की तबीयत स्थिर बताई गई। उन्होंने बताया कि हादसे में 10 लोगों की दुखद मौत हो गई है। इसमें आठ महिलाएं व दो बच्चे शामिल हैं। शव सम्मानजनक तरीके से परिजनों तक पहुंचाए जा रहे हैं।

घटना की रिपोर्ट तलब
डिप्टी सीएम ने घटना की पूरी रिपोर्ट जिला प्रशासन से तलब की है। उन्होंने कहा कि घटना कैसे घटी? उसकी वजह क्या रही? रिपोर्ट आने के बाद कुछ कहा जा सकता है। उन्होंने बताया कि ट्रैक्टर टॉली में सीमित लोग ही बैठें। पुलिस को भी ऐसे ट्रैक्टर टॉली की निगरानी के निर्देश दिए हैं। भविष्य में इस तरह के हादसों को रोकने की दिशा में कदम उठाने के निर्देश दिए।