एमडीए ने बोर्ड बैठक में पांचली में न्यू ट्रांसपोर्ट नगर बनाने पर लगाई थी मुहर

ट्रांसपोर्‌र्ट्स ने एमडीए के आला अधिकारियों पर लगाए आरोप

Meerut। बीते दिनों एमडीए की बोर्ड बैठक में पांचली में ट्रांसपोर्ट नगर बनाने के प्रस्ताव पर मुहर लगाई गई थी। इसके बाद ट्रांसपोर्टर्स ने इस फैसले पर विरोध करना शुरू कर दिया है। उनका आरोप है कि एमडीए के आला अधिकारियों ने भूमाफियाओं से सांठगांठ कर ट्रांसपोर्टर से बात किए बिना ही पांचली का प्रस्ताव बना दिया। जबकि पांचली को लेकर ट्रांसपोर्टस का पहले से ही विरोध चल रहा है।

शिफ्टिंग का विरोध

रविवार को ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष गौरव शर्मा की अध्यक्षता में बैठक की गई। इसमें ट्रांसपोर्टर्स ने पांचली में शिफ्टिंग का विरोध जताया। उन्होंने कहाकि दिल्ली रोड के ट्रांसपोर्ट नगर को आज तक विकसित नहीं किया जा सका है। बावजूद इसके, अब ट्रांसपोर्ट नगर को 15 किलोमीटर दूर पांचली में न्यू ट्रांसपोर्ट नगर नाम से बनाने की तैयार हो रही है।

10 साल से विवाद

गौरव शर्मा ने कहाकि पिछले लगभग 10 सालों से ट्रांसपोर्ट नगर को दिल्ली रोड से स्थानांतरित कर सिर्फ और सिर्फ पांचली का नाम सामने आता है। मेरठ विकास प्राधिकरण के कोई भी उपाध्यक्ष रहे हो प्रत्येक बोर्ड बैठक में इन भू माफियाओं के प्रभाव में आकर मोटी रकम कमाने के उद्देश्य से केवल पांचली का नाम ही बोर्ड बैठक में आयुक्त महोदय के सामने रखते हैं।

महंगे दामों में बेची जा रही जमीनें

ट्रांसपोर्टर्स ने आरोप लगाया कि शहर के न्यू टीपी नगर को लेकर पांचाली खुर्द में किसानों से भूमाफियाओं द्वारा सस्ते रेट में ली गई जमीनों के वारे न्यारे होने लग गए हैं। कुछ लोग मेरठ महायोजना 2021 की आड़ में किसानों से सस्ते दाम में जमीन खरीद कर अब एमडीए को बेचने में जुटे हैं।

वेदव्यास पुरी, लोहियानगर के बाद अब पांचली

ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन मेरठ के अध्यक्ष गौरव शर्मा बताते हैं कि इसके चलते टीपी नगर को पहले भी वेदव्यासपुरी शिफ्ट करने की योजना बनाई गई थी लेकिन यह योजना आगे नहीं बढ़ सकी। उसके बाद हापुड़ रोड के लोहिया नगर में इसकी कवायद की गई लेकिन वहां जगह की कमी बता कर ट्रांसपोर्टरों ने जाने से इंकार कर दिया। उसके बाद वहां सब्जी मंडी बना दी गई।

ये रहे मौजूद

इस मौके पर गौरव शर्मा , पंकज अनेजा, दीपक रल्हन, रोहित कपूर, योगराज जी, आनीश चौधरी, सुभाष कुमार, पिंकू शर्मा, बबलू ,मंगल राठी शिवम विनायक देवी चरण सैन सुरेंद्र शर्मा आदि शामिल रहे।