- स्वास्थ्य विभाग ने 32 स्वस्थ मरीजों से ली सहमति

- 150 अन्य मरीज 15 अगस्त के बाद प्लाज्मा देने के लिए हो जाएंगे योग्य

कोरोना संक्रमण कॉल में जिंदगी से जंग लड़ने वालों के लिए प्लाज्मा किसी संजीवनी से कम नहीं है। जीवनदायी प्लाज्मा डोनेशन को लेकर डीएम कौशल राज शर्मा की पहल पर बनारस में ब्रिगेड तैयार हो गया है। कोविड-19 के तहत गंभीर कोरोना पॉजिटिव मरीजों को प्लाज्मा थेरेपी से इलाज में 32 कोविड विजेता मरीजों ने संजीवनी देने की सहमति दे दी है। हालांकि बीएचयू प्लाज्मा बैंक की टीम ने हाल ही में चार कोविड विजेताओं का प्री टेस्ट किया तो उनके बॉडी में प्लाज्मा डोनेट करने की क्षमता नहीं मिली। प्लाज्मा स्टोर करने के लिए बहुत जल्द ही सहमति जता चुके 32 कोविड विजेताओं का प्री टेस्ट किया जाएगा।

लखनऊ से आया था प्लाज्मा

जुलाई में अचानक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी होने लगी। हर दिन 100 से 200 के बीच कोरोना मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन परेशान है। जुलाई की शुरुआत में बीएचयू स्थित कोविड-19 एल-3 हास्पिटल में भर्ती मरीज को प्लाज्मा की जरूरत हुई, लेकिन बनारस में प्लाज्मा बैंक न होने से मरीज की हालत बिगड़ने लगी। जानकारी होने पर डीएम कौशल राज शर्मा ने लखनऊ में बातचीत कर प्लाज्मा मंगाया। इसके बावजूद डाक्टरों की टीम कोरोना पॉजिटिव की जान नहीं बचा सकी।

32 कोविड विजेताओं ने दी सहमति

डीएम की पहल पर बीएचयू में प्लाज्मा बैंक बनाया गया। इसके बाद कोविड-19 विजेताओं से प्लाज्मा डोनेट करने की अपील की गई। इस काम में इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी और उनके वालंटियर्स को लगाया गया। रेडक्रॉस के वालंटियर्स लगातार कोविड विजेताओं से बातचीत कर प्लाज्मा डोनेट करने के लिए मोटिवेट कर रहे हैं। मोटिवेशन का नतीजा है कि अब तक 32 कोविड विजेताओं ने अपनी स्वेच्छा से प्लाज्मा देने की सहमति दे दी है।

डीएम ने की अपील

वाराणसी में अब तक 1103 कोरोना संक्रमित मरीजों ने कोविड-19 से जंग जीत ली है। ये विजेता अब दूसरे कोरोना मरीज की जान बचा सकते हैं। इस को ध्यान में रखते हुए डीएम ने कोविड विजेताओं से कोरोना के खिलाफ जारी जंग में आगे आने की अपील की। कहा कि कोरोना पॉजिटिव गंभीर मरीजों के इलाज के लिए स्वैच्छापूर्वक प्लाज्मा डोनेट कर उनका जीवन बचाने में अमूल्य सहयोग करें।

बढ़ेगी प्लाज्मा डोनर की संख्या

इंडियन रेडक्रॉस सोसाइटी के सचिव डॉ। संजय राय ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव गंभीर मरीजों के इलाज के लिए डीएम द्वारा की गई प्लाज्मा डोनेशन की पहल पर कोविड विजेता 32 कोविड विजेताओं ने प्लाज्मा डोनेशन के लिए अपनी सहमति दी है। 15 अगस्त तक यह संख्या दो सौ तक पहुंच सकती है। उन्होंने कहा कि भविष्य में आवश्यकतानुसार सभी ब्लड ग्रुप के कोविड विजेता स्वैच्छिक प्लाज्मा डोनेशन के लिए उनके मोबाइल नंबर 9415225999 पर संपर्क कर सकते हैं।