.काउंटर पर रिफंड लेने वालों की उमड़ रही भीड

.तीन दिन में लाखों का रिफंड, हजारों की बुकिंग

एक जून से ठप पडीं टे्रंस फिर से स्टार्ट हो रही हैं। इसके लिए नए सिरे से रिजर्वेशन शुरू किए गए तो रेलवे ने 22 मार्च से 30 जून तक पहले से बुक हो चुके सभी रेल टिकट कैंसिल कर दिए हैं। अब रिजर्वेशन काउंटर खुले हैं तो यात्री रिफंड के लिए भी पहुंचने लगे हैं। हालांकि 22 मई को काउंटर खुलते ही रिफंड लेने वालों की लाइन लग गयी थी। लेकिन किसी को रिफंड नहीं मिला क्योंकि रेलवे ने रिफंड के लिए 27 मई का डेट अनाउंस किया हुआ था। अब रिफंड की शुरुआत हुई है तो कैंट रेलवे स्टेशन स्थित रिजर्वेशन सेंटर पर टिकट की बुकिंग कम रिफंड लेने वाले ज्यादा पहुंच रहे हैं।

अलग से किया इंतजाम

रिजर्वेशन सेंटर पर तीन दिनों में ही इतने लोग पहुंच गए कि बीते छह दिन में रेलवे को बुकिंग से जितनी आमदनी हुई थी, उससे कहीं ज्यादा लौटाना पड़ा है। कई यात्री तो सुबह काउंटर खुलते ही रिफंड लेने पहुंच जा रहे हैं, तब तक बुकिंग नहीं होने से कैश की दिक्कत भी आने लगी है। हालांकि रेलवे ने इसके लिए अब इसके लिए अलग से इंतजाम कर लिया है। दरअसल मई व जून की छुट्टियों के मद्देनजर यात्रियों ने 120 दिन पहले ही टिकट बुक करवा लिया था। इस बीच कोरोना का संक्रमण स्टार्ट हो गया और लॉकडाउन के चलते ट्रेन को बंद कर दिया गया। हालांकि रेलवे ने यात्रियों की सुविधा के लिए व्यवस्था की है कि वे यात्रा की तारीख से छह महीने के अंदर रिफंड ले सकते हैं। बावजूद इसके लोग टिकट को रिफंड लेने के लिए पहुंच जा रहे हैं।

तीन दिन में 21.70 लाख का रिफंड

कैंट स्टेशन स्थित रिजर्वेशन सेंटर के काउंटर 22 मई से खोले गए हैं। यहां छह दिन में केवल गिनती के यात्रियों ने टिकट बुक किए। लेकिन पिछले तीन दिन में जब से काउंटर से रिफंड की शुरुआत हुई है तब से 21, 70,000 रुपये का टिकट लोगों ने कैंसिल करा दिया है। वहीं इन तीन दिनों में महज 18000 रुपये का ही रेल टिकट बुक हुआ है।

प्वाइंट टू बी नोटेड

.27 मई को 6 लाख रुपये का रिफंड

.28 मई को 7.65 लाख रुपये का रिफंड

.29 मई को 8.5 लाख रुपये का रिफंड

इतने की हुई बुकिंग

.27 मई को 5 हजार रुपये का टिकट बुक हुआ

.28 मई को 3 हजार रुपये का टिकट बुक हुआ

.29 मई को 10 हजार रुपये का टिकट बुक हुआ

Posted By: Inextlive