-फ्राइडे को हुई बैठक, नवंबर फ‌र्स्ट वीक से शुरू होगा खेल महाकुंभ

देहरादून, खेल महाकुंभ के लिए सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. फ्राइडे को खेल महाकुम्भ 2019 के लिए स्टेट लेवल आयोजन कमेटी की बैठक हुई. खेल व युवा कल्याण सचिव बृजेश कुमार संत ने बताया कि खेल महाकुंभ इस बार पूरे प्रदेश में नवंबर माह के फ‌र्स्ट वीक से शुरू होंगे. इसमें करीब दो लाख खिलाडि़यों के प्रतिभाग करने की उम्मीद है.

ग‌र्ल्स व दिव्यांगों को आयु में छूट

खेल महाकुंभ का आयोजन न्याय पंचायत स्तर, ब्लॉक, डिस्ट्रिक्ट व आखिर में स्टेट लेवल पर होगा. महाकुंभ में इस वर्ष दो लाख से ज्यादा खिलाडि़यों के पार्टिसिपेट करने की संभावना है. खेलों के लिए एज कैटेगरीज के तहत अंडर-12, अंडर-14, अंडर-17 व अंडर-21 में सभी कैटेगरीज में ग‌र्ल्स व ब्वॉयज पार्टिसिपेट करेंगे. खेल महाकुंभ में महिला व दिव्यांगजन की एज लिमिट 21-25 निर्धारित की गई है. बैठक में पुलिस, एजुकेशन, हेल्थ, ट्रांसपोर्ट, शहरी विकास व इन्फॉर्मेशन डिपार्टमेंट की ओर से सुझाव देने के साथ ही स्टेट लेवल गेम्स के लिए सहयोग का भरोसा दिया गया.

नेशनल गेम्स के लिए सलेक्शन

स्पो‌र्ट्स सेक्रेटरी ने बताया कि वर्ष 2021 में उत्तराखंड में नेशनल गेम्स का आयोजन होना है. जिसके लिये खेल महाकुम्भ के दौरान प्रतिभाशाली खिलाडि़यों का चयन भी किया जायेगा.

दिव्यांगों के खेल स्टेट लेवल पर

बताया गया है कि इस बार खेल महाकुंभ में दिव्यांगजन के खेल केवल स्टेट लेवर पर ही आयोजित होंगे. इसी प्रकार महिला कैटेगरीज के खेल डिस्ट्रिक्ट व स्टेट लेवल पर आयोजित होंगे.

खेल महाकुंभ पर एक नजर

-इनमें कबड्डी, एथलेटिक्स, खो-खो, वॉलीबाल

-इसके अलावा बैडमिंटन, फुटबाल, टीटी, ताइक्वांडो

-बॉक्सिंग, जूडो, हैंडबाल, बास्केटबाल, हॉकी, तैराकी, तीरंदाजी व तलवारबाजी

कुछ कॉम्पिटीशन पहली बार

तैराकी, तीरंदाजी व तलवारबाजी गेम्स खेल महाकुंभ में पहली बार शामिल की गई है. बताया गया है कि जिनका आयोजन राज्य स्तरीय खेल महाकुम्भ में अंडर-14 व अंडर-17 ग‌र्ल्स व ब्यॉयज में किया जायेगा.

दिव्यांगों के केवल छह गेम्स

दिव्यांगों के लिए सीधे स्टेट लेवल पर एथलेटिक्स, गोला फेंक, चक्का फेंक, भाला फेंक, लंबी कूद व बैडमिंटन खेलों का आयोजन होगा.

अंडर-12 पहली बारे

बैठक में निर्णय लिया गया कि ब्लॉक, डिस्ट्रिक्ट व स्टेट लेवल के खेलों में प्रत्येक खेल में फ‌र्स्ट, सेकेंड व थर्ड पॉजिशन हासिल करने वाले प्लेयर्स को पुरस्कार, टीम चैम्पियनशिप के लिए सभी वगरें में विजेता और विनर की शील्ड के साथ ट्राफी दी जाएगी. ऐसे ही अंडर-12 आयु वर्ग पहली बार रखा गया है. जिससे इस वर्ग के विजेताओं को राज्य के स्पो‌र्ट्स कालेजों में प्रवेश के लिए प्राथमिकता दी जा सके.