- आर्मी कैडेट कॉलेज की 115 वीं कॉन्वोकेशन सेरेमनी, कैडेट्स को मिली जेएनयू की डिग्री

- कोरोना के चलते कैडेट्स के परिजन सेरेमनी में नहीं हुए शामिल

DEHRADUN: भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) स्थित आर्मी कैडेट कॉलेज (एसीसी) के 115 वीं कॉन्वोकेशन सेरेमनी में 50 कैडेट को जेएनयू की डिग्री से नवाजा गया। एसीसी में तीन साल की ट्रेनिंग और पढ़ाई के बाद ये कैडेट आईएमए की मुख्यधारा से जुड़ गए हैं। अब एक साल के प्रशिक्षण के बाद ये सेना में बतौर अफसर शामिल हो जाएंगे। कोरोना के चलते कैडेट्स के परिजन इस बार इस सेरेमनी में शामिल नहीं हुए।

कैडेट्स का बढ़ाया हौसला

शुक्रवार को आईएमए के खेत्रपाल सभागार में आयोजित कॉन्वोकेशन सेरेमनी में कमाडेंट लेफ्टिनेंट जनरल जयवीर सिंह नेगी ने इन कैडेट्स को ग्रेजुएशन की डिग्री और अवॉर्ड प्रदान किए। उपाधि पाने वालों में 19 साइंस और 31 कैडेट आर्ट ग्रुप में ग्रेजुएट बने। कमांडेंट ने कैडेट्स को याद दिलाया कि एसीसी ने देश को बड़ी संख्या में ऐसे जांबाज अफसर दिए हैं, जिन्होंने अपनी क्षमता के बलबूते कई मेडल जीते। जिनमें न केवल आईएमए की प्रतिष्ठित स्वार्ड ऑफ ऑनर बल्कि असाधारण साहस व बलिदान के लिए मिलने वाले परमवीर चक्र व अशोक चक्र जैसे मेडल भी शामिल हैं। आर्मी कैडेट कॉलेज के कई कैडेट सेना में उच्च पदों पर आसीन हुए हैं। उन्होंने कहा कि उपाधि पाने वाले कैडेटों की जिंदगी का यह एक अहम पड़ाव है। कहा कि उनके सामने कई चुनौतियां होंगी, मगर देश की आन, बान और शान बनाए रखने की जिम्मेदारी अब उनके हाथों में होगी। इससे पहले एसीसी के प्रिंसिपल डॉ। नवीन कुमार ने कहा कि एसीसी कैडेटों ने कोरोनाकाल की तमाम पाबंदियों व चुनौतियों के बावजूद अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। एसीसी कमांडेंट ब्रिगेडियर वीएम चोधरी ने कैडेट्स को बधाई दी।

इन्हें मिला पुरस्कार

चीफ आफ आर्मी स्टाफ मेडल

गोल्ड : अरविंद बागोरिया

सिल्वर : शिवजीत सिंह

ब्रांज : पवित्र पाल सिंह

कमांडेंट बैनर: कारगिल कंपनी

कमांडेंट सिल्वर मेडल

सíवस: अरविंद बागोरिया

ह्यूमैनिटीज : अरविंद बागोरिया

साइंस : पवित्र पाल सिंह

Posted By: Inextlive