- चकराता रोड के राजेंद्रनगर के अल्कापुरी-29 की घटना

- फॉरेस्ट के अधिकारी, रेस्कयू टीम, डॉक्टस, ट्रेंकुलाइज गन मौके पर पहुंचे

- करीब एक घंटे की तमाम कोशिशों के बाद नजर आया बिज्जू

देहरादून,

मंडे सुबह चकराता रोड स्थित राजेंद्रनगर के अल्कापुरी इलाके के एक घर में गुलदार घुसने की सूचना पर शहर भर में हड़कंप मच गया। फॉरेस्ट डिपार्टमेंट की टीम पूरे लाव-लश्कर के साथ मौके पर पहुंची। पहले से घर के चारों ओर लोगों की भीड़ जुटी हुई थी। फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के आला अधिकारी ट्रैंक्युलाइजर, पिंजरा और डॉक्टर्स के साथ मौके पर आए, रेस्क्यू टीम ने लैपर्ड को ट्रैप करने के लिए कड़ी मशक्कत की, लेकिन घर में गुलदार नहीं बिज्जू मिला। घर में घुसते समय लोगों ने उसे गुलदार समझ लिया था।

बिज्जू घुसा था बाथरूम में

सिटी के बीचोंबीच चकराता रोड, राजेंद्रनगर के अल्कापुरी में राजेंद्र दुआ के घर के बाथरूम में सुबह करीब 10 बजे जंगली जानवर बिज्जू घुस गया। घर में मौजूद लोगों को बिज्जू को गुलदार समझ लिया। आनन-फानन में घरवालों ने बाथरूम का दरवाजा बंद कर दिया। इसके बाद इमरजेंसी सर्विस 108 को घरवालों ने कॉल कर सूचना दी कि बाथरूम में गुलदार घुस गया है। सूचना फॉरेस्ट हेडक्वार्टर तक पहुंची तो हड़कंप मच गया। फॉरेस्ट के आला अफसरों ने रेस्क्यू टीम जुटाई और लाव-लश्कर के साथ मौके पर पिंजरा लेकर पहुंचे।

ाव लस्कर के साथ पहुंचा महकमा

गुलदार की सूचना पर दून के डीएफओ राजीव धीमान ने डिविजन के सारे ऑफिसर्स को मौके पर रवाना होने के निर्देश दिए। इसके बाद एसडीओ विनय मोहन रतूड़ी, मालसी के रेंज ऑफिसर मोहन रावत, डा। राकेश नौटियाल के अलावा फॉरेस्ट हेडक्वार्टर की रेस्क्यू टीम में शामिल रवि जोशी, जीतेंद्र बिष्ट सहित तमाम फॉरेस्ट अफसर मौके लिए रवाना हो गए। फॉरेस्ट टीम ने घर में घुसे गुलदार को रेस्क्यू करने के लिए मौके पर स्ट्रेटजी बनाई। ट्रैंक्युलाइजिंग गन और पिंजरे के साथ टीमें अलर्ट रहीं। इसी दौरान बाथरूम के दरवाजे से जानवर की पूंछ नजर आई, फॉरेस्ट टीम ने पूछ देखी तो ये बिज्जू निकला। टीम रिलेक्स हुई, दरवाजा खोला और बिज्जू को पकड़ लिया।

-----------------------

वाइल्ड लाइफ वीक आज से

हर वर्ष की तरह इस बार भी वाइल्ड लाइफ वीक का आज से राजपुर रोड स्थित फॉरेस्ट के मंथन ऑडिटोरियम में आगाज होगा। सुबह 11 बजे से शुरु होने वाले वाइल्ड लाइफ वीक में वाइल्ड लाइफ से संबंधित मूवीज दिखाई देने के साथ ही बुक लॉन्च व गुलदार के आतंक पर भी मूवी दिखाई जाएगी। इसके अलावा मीडिया के वाइल्ड लाइफ ह्यूमन कॉन्फ्लिट पर इंट्रैक्शन होगा।

सूचना देने वालों ने हड़बड़ी में बिज्जू को गुलदार समझ लिया था। बिज्जू को रेस्क्यू कर जंगल में छोड़ दिया।

- राजीव धीमान, डीएफओ, दून।

Posted By: Inextlive