- निर्जला एकादशी पर महिलाओं ने व्रत रखकर की भगवान विष्णु की पूजा

DEHRADUN: निर्जला एकादशी के पर्व पर मंगलवार को महिलाओं ने व्रत रखकर भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना की। गरीब एवं जरूरतमंदों को दान देकर परिवार की सुख-शांति के साथ ही कोरोना महामारी के खात्मे की भी कामना की गई। दून में मंदिरों में लोगों को फल और शर्बत का वितरण भी किया गया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन किया गया।

दान देकर कमाया पुण्य

ज्येष्ठ मास में शुक्ल पक्ष की एकादशी को निर्जला एकादशी का व्रत रखा जाता है। मंगलवार को सुबह से ही व्रतियों ने पूजा और दान की तैयारियां की। सुबह स्नान के बाद लोगों ने घरों में भगवान विष्णु को भोग लगाया। इसके बाद मंदिरों के बाहर बैठे लोगों और जरूरतमंदों को सुराही, मटका, खजूर के पत्तों से बने पंखे, खरबूजा, आम, लीची और जूते आदि दान किए। दून के कई मंदिरों में लोगों को फल और शर्बत का वितरण किया गया। कोराना की शांति के लिए भी पूजा की गई। पंडित मुकेश नौटियाल ने बताया कि निर्जला एकादशी का व्रत और दान करने से परिवार में सुख एवं समृद्धि होती है।

Posted By: Inextlive