-एक वर्ष से किराएदार व अन्य साथी कर रहे थे दुष्कर्म

देहरादून,

रायपुर थाना क्षेत्र में दृष्टिबाधित युवती के साथ दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने कंप्लेन मिलते ही दो आरोपियों को अरेस्ट कर लिया है। जबकि एक अन्य आरोपी फरार है। पीडि़त युवती सात माह की गर्भवती है।

मेल कर कराई कंप्लेन

रायपुर थाना इंचार्ज दिलबर सिंह नेगी ने बताया कि मामले की कंप्लेन बीते सोमवार को दिल्ली से एक युवती ने मेल के जरिये दून पुलिस को भेजी थी। कंप्लेन करने वाली युवती ने बताया कि उसकी एक बहन परिवार के साथ देहरादून की शहीद भगत सिंह कॉलोनी में रहती है। जो कि 18 साल की है और अल्प दृष्टिबाधित है। युवती का आरोप था कि यहां उनके मकान में रहने वाला किरायेदार खुर्शीद अहमद व सन्नू उसकी बहन के साथ कई माह से दुष्कर्म कर रहे हैं। किसी को घटना की जानकारी देने पर आरोपी जान से मारने की धमकी दे रहा है। जिस डर से पीडि़त कंप्लेन नहीं कर रही है। डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने महिला उत्पीड़न के मामले को गंभीरता से लेते हुए रायपुर थाना इंचार्ज दिलबर सिंह नेगी को तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए गए। पुलिस ने पीडि़ता के बयान लेने के बाद एफआईआर दर्ज की और उसका मेडिकल करवाया। मेडिकल रिपोर्ट में उसके गर्भवती होने की पुष्टि हुई। युवती ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि विगत एक वर्ष से हमारे किराएदार खुर्शीद अहमद व सन्नू व हमारे घर के पास रहने वाले एक अन्य युवक ने अलग-अलग तिथियों में मेरे साथ मुझे डरा-धमकाकर दुष्कर्म किया है। पीडि़ता ने बताया कि उसके पेट में बच्चा है, यह बच्चा किसका है यह मुझे मालूम नहीं है। पुलिस टीम ने आरोपी खुर्शीद निवासी बिजनौर उत्तर प्रदेश हाल निवासी भगत सिंह कॉलोनी थाना रायपुर उम्र करीब 30 वर्ष को भगत सिंह कॉलोनी से गिरफ्तार किया है। जबकि शहीद अहमद उर्फ सन्नू निवासी बिजनौर से बिजनौर से 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार किया गया। जबकि तीसरे आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।