प्रोफेसर जटाशंकर को सौंपी पांच सदस्यीय कमेटी की कमान

छात्रसंघ अध्यक्ष ने चेताया, मेरी नहीं सुनी तो होगा आन्दोलन

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रो. आरएल हांगलू ने छात्रसंघ अध्यक्ष ऋचा सिंह के रिसर्च में नियम विरुद्ध प्रवेश संबंधि आरोपों पर सख्त स्टैंड लिया है. उन्होंने पूरे मामले की जांच के लिए दोबारा से एक जांच कमेटी का गठन कर दिया है. वीसी ने छात्रसंघ अध्यक्ष ऋचा सिंह के आरोपों को यह कहकर खारिज किया है कि उन्हें यूनिवर्सिटी जानबूझकर टार्गेट कर रही है.

कोई भी हो सब पर होगी कार्रवाई

वीसी ने अपना पक्ष साफ करते हुए कहा है कि विवि के बाकी छात्रों की तरह ऋचा भी मेरे लिए एक छात्रा है. मैं सबकी तरह उनसे भी स्नेह करता हूं. कहा कि यदि प्रवेश गलत तरीके से हुआ है तो सच को सामने लाना यूनिवर्सिटी का दायित्व है. उन्होंने कहा कि जांच कमेटी सभी पहलुओं की जांच करेगी. बताया कि प्रो. ए. सत्यनारायण की जांच रिपोर्ट में प्रवेश में गड़बड़ी मिली है.

एमएचआरडी से कोई पूछताछ नहीं

प्रो. जटाशंकर की अध्यक्षता में बनाई गई नई जांच कमेटी के प्रो. शांति सुंदरम वाइस चेयरमैन हैं. बाकी सदस्यों में डीएसडब्ल्यू प्रो. हर्ष कुमार, प्रो. धनंजय यादव एवं ज्योग्राफी डिपार्टमेंट के डॉ. अश्वजीत चौधरी को शामिल किया गया है. वीसी ने कहा कि ऋचा व रजनीश सिंह ऋशु की आपसी लड़ाई में यूनिवर्सिटी की छवि खराब हो रही है. कमेटी यथाशीघ्र अपनी रिपोर्ट सौंपे. वीसी ने इस बात को खारिज किया कि उनसे एमएचआरडी लेवल पर कोई पूछताछ हुई है.