क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : राजधानी में कई मिनी ट्रांसफर स्टेशन अब 'बीमारी यार्ड' बनते जा रहे हैं. मोरहाबादी में जहां मिनी ट्रांसफर स्टेशन में कचरे से भरी गाडि़यों की लंबी कतार लगी हुई है, वहीं कर्बला चौक एमटीएस में कचरे से भरी गाडि़यां 'जहर' उगल रही है. इसकी बदबू से लोगों का सांस लेना तक मुश्किल हो रहा है. लेकिन, कचरे को डंपिंग यार्ड नहीं भेजा जा रहा है. अगर अगले कुछ दिनों तक बारिश होती रही तो इस कचरे की वजह से आसपास के इलाकों में महामारी फैलने के खतरे से भी इन्कार नहीं किया जा सकता है.

कचरे से ओवरलोड हैं गाडि़यां

मोरहाबादी और कर्बला चौक एमटीएस में कचरा कलेक्शन के लिए तीन दर्जन गाडि़यों को लगाया गया है, लेकिन ये सभी गाडि़यां कूड़े से ओवरलोड है. ऐसे में लोगों के घरों से कचरे का उठाव बंद हो गया है. ऐसे में अब घरों में कचरे का ढेर लगता जा रहा है. कुछ इलाकों में तो लोगों ने एक हफ्ते से कूड़ा कलेक्ट करने वाली गाडि़यां भी नहीं देखी है. इस स्थिति में लोगों के घरों से कचरे का कलेक्शन कैसे होगा?

पूजा के लिए बनी थी विशेष सफाई टीम

दुर्गा पूजा के दौरान सफाई व्यवस्था को लेकर रांची नगर निगम की ओर से स्पेशल टीम लगाई गई थी. जो रात में भी मुख्य सड़कों की सफाई कर रही थी. लेकिन पूजा खत्म होते ही निगम की टीम को हटा दिया गया है. अब सिटी में जगह-जगह कचरे का अंबार लगा हुआ है.

पार्षदों की नहीं सुन रहे अफसर

मिनी ट्रांसफर स्टेशनों से गाडि़यों को डंपिंग यार्ड नहीं भेजे जाने को लेकर पार्षदों ने अधिकारियों से कई बार शिकायत की, लेकिन इसके बाद भी कचरा हटाने को लेकर निगम के अधिकारी गंभीर नहीं है. कर्बला चौक में बुधवार से कचरा डंप नहीं होने के लेकर पार्षदों ने नगर निगम के अफसरों को कहा कि अगर कूड़े से भरी ये गाडि़यां ऐसे ही पड़ी रही तो इलाके में बीमारी दस्तक दे देगी.