-¨हदुस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट (एचआइटीएम) के क्वॉरंटीन सेंटर का वायरल हुआ वीडियो

-फेंककर दी जा रही है खाद्य सामग्री, जालियों के अंदर से चाय ले रहे क्वॉरंटीन में रह रहे लोग

-प्रशासन ने लिया संज्ञान-डीएम ने किया दौरा, सीडीओ को दी प्रकरण की जांच

आगरा: कोरोनावायरस के खिलाफ शुरुआती जंग में तरीफ बटोरने वाले आगरा प्रशासन की अब किरकिरी हो रही है। लगातार बढ़ रहे केसेस से कहीं न कहीं हेल्थ डिपार्टमेंट के दावों की पोल खुली है वहीं सिविल सप्लाई के लिए बनाया गया 'क्लस्टर कंटेंनमेंट प्लान' भी हांफ रहा है। अब क्वॉरंटीन सेंटर्स की तस्वीरों ने आगरा प्रशासन की बड़ी खामियों उजागर कर दिया। क्वॉरंटीन सेंटर्स में 'अमानवता' का एक वीडियो रविवार को वायरल हुआ। इस वीडियो में ¨हदुस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट (एचआइटीएम) के क्वॉरंटीन सेंटर में रह रहे लोगों को फेंककर खानपान सामग्री दी जा रही है। वीडियो क्वॉरंटीन में रह रही एक युवती ने वायरल किया है। युवती का आरोप है कि क्वॉरंटीन सेंटर में मानकों का अनुपालन नहीं हो रहा है और न ही पेशेंट का चेकअप किया जा रहा है।

मरीजों से अछूतों जैसा व्यवहार

क्वॉरंटीन सेंटर एचआइटीएम में मरीजों से अछूतों जैसा व्यवहार किया जा रहा है। पंचशील डिग्री कॉलेज, सचदेवा मिलेनियम स्कूल, हेरिटेज इंस्टीट्यूट के क्वॉरंटीन सेंटर में अव्यवस्थाएं भी सामने आई हैं। एचआइटीएम के मरीजों को पीपीई किट पहनकर सरकारी कर्मचारी पानी की बोतल और चाय फेंककर दे रहे हैं। सेंटर का मेन गेट बंद था और लोग सामान लेने के लिए एक दूसरे पर टूट पड़ रहे थे। ऐसे में एक मीटर की शारीरिक दूरी का पालन ठीक से नहीं किया जा रहा था। वैसे यह सब अफसर भी खड़े होकर देख रहे थे लेकिन किसी ने भी कोई ठोस कदम नहीं उठाया। यहां भर्ती एक मरीज ने बताया कि बेडशीट को दो दिन से नहीं बदला गया है। शौचालय गंदे पड़े हुए हैं और खाने की गुणवत्ता भी ठीक नहीं है। खाना दूर से दिया जा रहा है। परिसर में सफाई व्यवस्था ठीक नहीं है और हर दिन सैनिटाइजेशन भी नहीं हो रहा है। एक अन्य मरीज ने बताया कि प्रशासन द्वारा जिस तरीके की सुविधाएं उपलब्ध कराने का दावा किया गया है, उसमें से अधिकांश पूरी नहीं हो रही हैं।

वायरल वीडियो ने मचाई सनसनी

इस वीडियो में पीपल मंडी के परिवार की बेबसी दिखाई गई है। इस परिवार का एक सदस्य सैफई में अस्पताल में क्वारंटाइन है। ब्लड प्रेशर और शुगर की बीमारी से पीडि़त भी है यह मरीज। मगर, सैफई अस्पताल में उन्हें उचित उपचार नहीं मिल पा रहा। दवाएं भी उपलब्ध नहीं कराई जा रहीं। इससे उनकी हालत बिगड़ती जा रही है। परिजनों ने एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाला है। इसमें क्वारंटाइन व्यक्ति की पत्‍‌नी और बच्चे गुहार लगाते दिख रहे हैं। वहीं एक अन्य वीडियो में एक व्यक्ति बाइक को स्ट्रेचर का रूप दे दिया है। लकड़ी के तख्ते बांधकर इस पर एक मरीज को बैठा रखा है। इस व्यक्ति के पैर पर प्लास्टर चढ़ा हुआ है। बाइक पर चालक के अलावा तीसरा किशोर आगे बैठा हुआ है। वायरल वीडियो में यह बाइक सवार डीएम आवास के सामने से गुजरता दिख रहा है।

---

प्रमुख सचिव ने ली जानकारी

क्वॉरंटीन सेंटरों के हाल को लेकर रविवार को प्रमुख सचिव, अवस्थापना और नोडल अधिकारी आलोक कुमार ने जानकारी ली। सेंटरों में किस तरीके की सुविधाएं मिल रही हैं। यह भी अफसरों ने पूछा। वहीं सोशल मीडिया पर एचआईटीएम सहित अन्य का वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासन में खलबली मच गई। देर शाम डीएम प्रभु एन सिंह और एसएसपी बबलू कुमार ने पहले सिकंदरा थाना का निरीक्षण किया फिर एचआइटीएम पहुंचे। जहां अफसरों की मौजूदगी में सफाई अभियान चलाया गया। साथ ही लोगों को एक मीटर की शारीरिक दूरी के पालन के आदेश दिए गए। रविवार को हॉटस्पॉट सहित अन्य क्षेत्रों में थर्मल स्क्री¨नग का अभियान चला। शहर में 71 लोगों को होम क्वॉरंटीन किया गया। अब तक 7277 लोगों को होम क्वॉरंटीन कराया जा चुका है।

---

सीडीओ को सौंपी जांच

प्रकरण को संज्ञान में लेकर सीडीओ जे। रीभा से स्पष्टीकरण तलब करने के साथ-साथ जांच के आदेश दिए है। डीएम ने बताया सीडीओ को जांच कर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। वायरल वीडियो की जांच कराई जा रही है।

---

एचआइटीएम में बने क्वॉरंटीन सेंटर में दो सौ के करीब लोग हैं। इसकी क्षमता छह सौ बेड की है। जो भी कमियां हैं। उन्हें दूर कराया जा रहा है। संबंधित अफसरों को दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

-प्रभु एन सिंह, डीएम, आगरा

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner