नई दिल्ली (पीटीआई)। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने वनडे क्रिकेट में 10 हजार रन पूरे कर एक बड़ी उपलब्ध हासिल कर ली। कोहली को क्रिेकेट खेलते हुए 10 साल हो गए। इसके बावजूद वह आज भी खुद को किसी विशिष्ट का हकदार नहीं मानते हैं। विंडीज के खिलाफ दूसरे वनडे में सचिन का रिकॉर्ड तोड़ते हुए विराट ने सबसे तेज 10 हजार रन पूरे किए हैं। फिर भी कोहली का मानना है कि सबकुछ अपने आप नहीं मिलता, इसके लिए आपको प्रयास करना होता है। बीसीसीआई डॉट टीवी को दिए एक इंटरव्यू में कोहली बताते हैं, 'देश के लिए खेलना मेरे लिए सम्मान की बात है। मुझे खेलते हुए 10 साल हो गए फिर भी मुझे नहीं लगता कि मैं यहां हर चीज का हकदार हूं। आपको प्रत्येक रन के लिए लगातार कड़ी मेहनत करनी होती है।'
10 हजार रन बनाने के बाद कोहली का खुलासा,बस इतना और खेलेंगे क्रिकेट
यहां सबकुछ आसानी से नहीं मिलता
विराट कहते हैं, 'तमाम ऐसे खिलाड़ी हैं जो भारत के लिए खेलना चाहते हैं। ऐसे में जब आप खुद को उस पोजीशन में देखते हैं। तो मेरे अंदर भी वही जज्बा नजर आता है। यहां सबकुछ आसानी से नहीं मिलता। हर स्थिति का आपको सामना करना पड़ता है।' यही नहीं विराट से जब टीम के लिए कमिटमेंट के बारे में पूछा गया तो उनका जवाब था, 'अगर मुझे एक ओवर में छह बार डाइव लगानी पड़े तो मैं ऐसा करूंगा, क्योंकि यह मेरी ड्यूटी है और इसी वजह से मुझे टीम में रखा गया। यह मेरे काम का एक हिस्सा है। मैं यहां किसी पर अहसान नहीं कर रहा।'
10 हजार रन बनाने के बाद कोहली का खुलासा,बस इतना और खेलेंगे क्रिकेट
विराट इतने कंसिस्टेंट क्यों रहते हैं
भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेलते हुए कितनी जिम्मेदारी होती है। इस पर विराट कहते हैं, 'जब आप टीम के लिए खेलते हैं तो एक-एक रन की अहमियत होती है। फिर आपको यह नहीं सोचना चाहिए कि आप शारीरिक और मानसिक रूप से थक चुके हैं। मैं इसी पर विश्वास रखता हूं। टीम को मुझसे जितनी जरूरत होती है मैं उसके लिए सौ प्रतिशत देने की कोशिश करता हूं।' विराट इतने कंसिस्टेंट क्यों रहते हैं, इस पर कोहली का जवाब था, 'मैं हमेशा टीम की जरूरत के हिसाब से खेलता हूं। यही वजह है कि मेरे बल्ले से रन निकलते हैं। जिस दिन मैंने अपनी बल्लेबाजी के हिसाब से खेलना शुरु कर दिया तो स्थिति काफी बदल जाएगी।
10 हजार रन बनाने के बाद कोहली का खुलासा,बस इतना और खेलेंगे क्रिकेट
और कितना क्रिकेट खेलेंगे
वनडे क्रिकेट में 10 हजार रन एक पड़ाव है। इस पर कोहली जवाब देते हैं, 'मैं बहुत खुश हूं। वैसे यह आंकड़े ज्यादा महत्व नहीं रखते। फिर भी दस साल क्रिकेट खेलने के बाद अगर आज इस मुकाम पर हूं तो यह मेरे लिए काफी स्पेशल है क्योंकि मुझे क्रिकेट से प्यार है। और मैं ज्यादा से ज्यादा खेलना चाहता हूं। मेरे लिए इससे जरूरी कुछ नहीं। इसलिए मैं खुश रहता हूं और आशा करता हं आगे आने वाले कई सालों तक खेलने के लिए फिट रहूं।'

लगातार 3 शतक मारने वाले पहले भारतीय बन सकते हैं कोहली, जानें वनडे में लगातार कितने शतक का है रिकॉर्ड

जानें कितनी गेंदें खेलकर कोहली बना पाए 10,000 रन

Cricket News inextlive from Cricket News Desk