वेलिंग्टन (पीटीआई)। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने आने वाले तीन सालों के लिए खुद को अभी से तैयार कर लिया है। विराट 2023 तक क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में हिस्सा लेते रहेंगे। इसकी वजह है कि भारत को इस साल और अगले साल दो टी-20 वर्ल्डकप खेलने हैं और फिर 2023 में आईसीसी वनडे वर्ल्डकप खेला जाएगा। इस बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप भी खेली जा रही। ऐसे में भारत को इन तीनों बड़े आईसीसी टूर्नामेंट के लिए विराट कोहली जैसे सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज और कप्तान की जरूरत है। इस बात को विराट भी मानते हैं, मगर वर्कलोड को देखते हुए 2023 के बाद कोहली क्रिकेट के एक फॉर्मेट को अलविदा कह सकते हैं।

अगले तीन साल की तैयारी

न्यूजीलैंड के खिलाफ शुक्रवार से शुरू होने वाली दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला से पहले मीडिया से बातचीत करते हुए विराट कहते हैं, 'मैं फिलहाल बड़े टारगेट पर फोकस कर रहा और खुद को अगले तीन साल के लिए तैयार कर रहा। हालांकि उसके बाद इस पर विचार किया जा सकता है कि तीनों फॉर्मेट खेलने हैं या नहीं।' वर्कलोड पर बात करते हुए विराट ने आगे कहा, 'यह ऐसी चीज नहीं है जिसे छिपाया जा सके। पिछले आठ साल से मैं एक साल में लगभग 300 दिन बिजी रहता हूं, इसमें मैच खेलने से लेकर ट्रैवलिंग और प्रैक्टिस सेशन सबकुछ शामिल है।'

कप्तान के रूप में अतिरिक्त जिम्मेदारी

कोहली, जो इस साल 31 साल के हो जाएंगे उन्होंने माना कि समय-समय पर ब्रेक ने उनके लिए अच्छा काम किया है। विराट ने कहा, "ऐसा नहीं है कि खिलाड़ी हर समय इसके बारे में नहीं सोच रहे हैं। हम व्यक्तिगत रूप से बहुत अधिक ब्रेक लेना चुनते हैं, भले ही शेड्यूल आपको अनुमति न दे। खासकर वो खिलाड़ी जो सभी प्रारूप खेलते हैं।' कोहली के लिए, यह केवल उनके प्रदर्शन के बारे में नहीं है, बल्कि उस नेतृत्व के बारे में भी है जिसके लिए उन्हें अपना दिमाग हर समय रणनीति तैयार में लगाना पड़ता है। कोहली कहते हैं, "यह आसान नहीं है कप्तान होने के नाते, अभ्यास सत्रों में उस तेजी को बरकरार रखना क्योंकि यह आप पर भारी पड़ता है। समय-समय पर ब्रेक मेरे लिए बहुत अच्छा काम करता है।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk