- कानपुर में कई लोगों की जानकारी के बगैर ही नाम डिलीट हो गये वोटर लिस्ट से

- फार्म-6 भरने के बाद ही जुड़ेंगे नाम

KANPUR : एक ओर लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग वोटर लिस्ट रिवीजन ड्राइव चला रहा है. वहीं पिछली रिवीजन ड्राइव में कई लोगों के नाम वोटर लिस्ट से उड़ा दिये गये हैं. परेशान पब्लिक चुनाव ऑफिस के चक्कर काटने को मजबूर है.

कई शिकायतें आ रहीं

नेम डिलीशन के संबंध में चुनाव ऑफिस में हर दिन शिकायतें आ रही हैं. पब्लिक का कहना है कि नई वोटर लिस्ट में उनका नाम ही नहीं है. जबकि विधानसभा चुनाव में उन्होंने मतदान भी किया है. वहीं इलेक्शन ऑफिसर्स का दावा है कि जितने लोगों का नाम लिस्ट से हटाया गया है. उनमें से ज्यादातर लोगों की या तो डेथ हो चुकी है. या वोटर अपने पुराने पते पर रह नहीं रहे हैं. बीएलओ ने गहन जांच-पड़ताल के बाद ही नाम हटाये हैं.

कोई जॉब पर, कोई पढ़ाई पर

नाम कटने की शिकायत उन लोगों को सबसे ज्यादा है. जिनके घर में कोई व्यक्ति दूसरे शहर में जॉब में है. या किसी घर में बच्चा कहीं बाहर पढ़ाई कर रहा है. पीडि़तों का आरोप है कि वोटर्स का क्रॉस वैरीफिकेशन सही ढंग से नहीं हुआ. कई बीएलओज ने मोहल्ले में एक घर में बैठे-बैठे ही सर्वे कर डाला है. अब इलेक्शन ऑफिसर्स इसकी जांच करवाने की तैयारी में है. नाम कटने की वजह से बहुत से लोग परेशान हैं. आई नेक्स्ट के हेल्प लाइन नंबर पर कई लोगों ने इसकी शिकायत भी की है. देहली सुजानपुर के मुन्ना सिंह भी ऐसे ही पीडि़त हैं. उन्होंने फोन करके रिपोर्टर को अपना नाम कटने की जानकारी दी. पड़ताल में बात सही निकली. इस पर जब रिपोर्टर ने छानबीन की तो मालूम चला कि दसों विधानसभाओं में ऐसे लोग हैं, जिनके पास वोटर आईडी कार्ड है, लेकिन नाम लिस्ट में है ही नहीं.

बस यही है आखिरी रास्ता

एलिजिबल वोटर्स के नाम लिस्ट से गायब होने की जानकारी पर इलेक्शन ऑफिसर आरएन बाजपेई ने आखिरी रास्ता सुझाया है. उन्होंने कहा कि जितने भी नाम कटे हैं, उनके पास एक आखिरी मौका है नाम जुड़वाने का. ऐसे लोग फॉर्म-म् फौरन भरकर अपना आवेदन करें. साथ में अपने वोटर आईडी प्रूफ की फोटोकॉपी भी अटैच कर दें. ऐसे लोगों के नाम तत्काल वोटर लिस्ट में जुड़वाने के आदेश दिये जाएंगे.

-

जितने लोगों के नाम वोटर लिस्ट में किसी कारणवश कट गये हैं. वो फौरन फॉर्म-म् फिलअप करें. अगर वोटर आईडी प्रूफ है तो उसकी फोटोकॉपी जरूर अटैच करें.

- आरएन बाजपेई, डिप्टी इलेक्शन ऑफिसर