पुलिसवालों का बनेगा वोटर आईडी कार्ड
पुलिस और प्रशासन की मीटिंग में फैसला लिया गया है कि इलेक्शन कमीशन के डायरेक्शन का पूरी तरह पालन किया जाए. इलेक्शन के दौरान ड्यूटी करने वाले ज्यादातर कर्मचारी वोट नहीं दे पाते हैं. पोस्टल वोटिंग में भी लोगों की भागीदारी नहीं हो पाती है. कई बार वोटर आईडी कार्ड के अभाव में वोट नहीं पड़ पाता है. इनमें ज्यादातर संख्या पुलिस कर्मचारियों की होती है. इसे ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि ज्यादा से ज्यादा पुलिस कर्मचारियों और उनके फैमली मेंबर्स के वोटर कार्ड बन जाएं. जिले में करीब दो हजार से अधिक पुलिस कर्मचारियों का वोटर आईडी कार्ड बनाया जाएगा. इसके लिए सैटर्डें को ही तीन हजार से अधिक फॉर्म-6 दिए गए हैं.

ड्यूटी कार्ड दिखाकर दे सकेंगे वोट
डिस्ट्रिक्ट इलेक्शन ऑफिस के कर्मचारियों की मानें तो इस बार इलेक्शन में ड्यूटी करने वाले हर कर्मचारी को वोट देने का मौका मिलेगा. अभी से उन सभी विभागों के कर्मचारियों की लिस्ट मंगाई जा रही है, जिनको इलेक्शन ड्यूटी में भेजना है. इसमें यह भी पता किया जा रहा है कि उनके पास वोटर कार्ड हैं या नहीं. जिनके पास वोटर कार्ड नहीं हैं, उनकी लिस्ट अलग से मांगी जा रही है ताकि उनका कार्ड बनाया जा सके. वे लोग अपने ड्यूटी स्थल पर इलेक्शन ड्यूटी कार्ड दिखाकर वोट डाल सकेंगे. इस बार कर्मचारियों की ड्यूटी उनके अपने लोकसभा क्षेत्र में लगाई जाएगी, लेकिन वे अपने विधान सभा क्षेत्र में ड्यूटी नहीं कर सकेंगे.

सभी विभागों के कर्मचारियों को वोटर बनाने का अभियान शुरू कर दिया गया है. इस बार
ज्यादा से ज्यादा कर्मचारियों को वोटर बनाना है.
गौरव वर्मा,  डिप्टी डिस्ट्रिक्ट इलेक्शन ऑफिसर