- एनईआर में जनरल वेटिंग हॉल के बाहर चस्पा नोटिस 'अंदर आना सख्त मना है' रेलवे ने हटाया

- दैनिक जागरण आईनेक्स्ट में न्यूज पब्लिश होने के बाद हुआ असर, अफसरों ने लिया एक्शन

======================

बरेली: बरेली जंक्शन के सेकंड एंट्री गेट पर बने जनरल वेटिंग हॉल को पुलिसकर्मियों से वेडनसडे को खाली करा लिया गया. अब इस वेटिंग हॉल में पैसेंजर्स को एंट्री मिल गई है. करीब 15 दिन से पैसेंजर्स बारिश में इधर-उधर भटकने को मजबूर थे. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने इस समस्या को प्रमुखता से उठाते हुए 7 जुलाई को न्यूज पब्लिक की थी, जिसके बाद अफसर एक्शन में आए.

दो हैं वेटिंग हॉल

सुभाषनगर की साइड वाले सेकंड एंट्री गेट पर एनईआर के प्लेटफॉर्म संख्या पांच और छह हैं. दोनों प्लेटफॉर्म के अलावा प्लेटफॉर्म संख्या 1-4 तक एनआर के हैं, इसीलिए सेकंड एंट्री गेट पर एनआर का भी सामान्य श्रेणी का वेटिंग हॉल बना है. जिसमें एनईआर और एनआर के आने वाले पैसेंजर्स बैठते हैं. इसी वेटिंग हॉल से सुभाषनगर साइड से आने वाले पैसेंजर्स एनईआर के प्लेटफॉर्म पर होते हुए फुटओवर ब्रिज से निकलते हैं.

15 दिन पहले से है कब्जा

सेकंड एंट्री गेट को छोड़ दें तो बगल में बने एनआर के वेटिंग हॉल में अफसरों ने करीब 25-30 पुलिसकर्मियों को डेरा डलवा दिया था. वेटिंग हॉल के बाहर पुलिस कर्मियों ने एक नोटिस चस्पा किया है कि 'अन्दर आना सख्त मना है' बस यह पढ़ते ही कोई पैसेंजर्स एंट्री करने की हिम्मत ही नहीं जुटा पा रहा था.

पैसेंजर्स होते थे परेशान

दूर-दूराज से आने वाले पैसेंजर्स जब परिवार के साथ आते हैं तो उन्हें ट्रेन का इंतजार करते वक्त सबसे अधिक प्रॉब्लम हो रही थी, क्योंकि सेकंड एंट्री गेट से आने जाने वालों के चलते वहां पर पैसेंजर्स का बैठ पाना मुश्किल हो रहा था. बगल में बने वेटिंग हॉल में ही पैसेंजर्स बैठ सकते थे. इसमें पुलिसकर्मियों का कब्जा था.

सेकंड एंट्री गेट से निकलती है साइकिलें

सेकंड एंट्री गेट पर जहां पैसेंजर्स बैठे होते हैं. वहीं से दिन भर सुभाषनगर के लोग साइकिल लेकर दिन भर निकलते रहते हैं. इससे पैसेंजर्स को और अधिक प्रॉब्लम होती है

हसंराज

- जंक्शन पर वेटिंग हॉल पैसेंजर्स के लिए बनाया गया था. लेकिन रेलवे ने पुलिस कर्मियों को दे दिया. अब ऐसे में पैसेंजर्स बारिश के मौसम में इधर उधर भटकते थे. सबसे अधिक परेशानी तो महिलाओं को होती थी.

मुंशी सिंह

===============

- प्लेटफॉर्म पर बारिश के चलते परेशानी हो रही थी. वेटिंग हॉल में पब्लिक को दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने न्यूज पब्लिश कर एंट्री दिलाई अच्छा किया. क्योंकि पब्लिक की समस्या को सुनने वाला कोई नहीं होता है. सिर्फ अपने काम में सभी बिजी रहते हैं.

- राकेश

- जीआरपी की हेल्प के लिए जिन पुलिसकर्मियों को रुकने के लिए वेटिंग हॉल दिया गया था. उनसे खाली करा लिया गया है. वेटिंग हॉल पब्लिक के लिए ओपन कर दिया गया है. अब वेटिंग हॉल में कोई पुलिसकर्मी नहीं है.

- सत्यवीर सिंह, स्टेशन मैनेजर, एनआर