-दोनों शातिर जंक्शन से जा रहे थे बिजनौर, क्राइमब्रांच ने घेराबंदी कर सवा किलो ज्वैलरी समेत पकड़ा

-एसी बसों में पैसेंजर्स को बनाते थे निशाना, रात में बैग से ज्वैलरी करते थे पार

बरेली: एसी बसों में पैसेंजर बनकर दूसरे पैसेंजर्स की गोल्ड की ज्वैलरी और कीमती सामान पार करने वाले दो शातिरों को क्राइम ब्रांच की टीम ने फ्राइडे को देर रात जंक्शन से गिरफ्तार किया. दोनों क्रिमिनल तमिलनाडु में वांटेड हैं और चोरी करने के बाद जंक्शन से बिजनौर जाने की फिराक में थे. साथ ही टीम ने सवा एक किलो चोरी की ज्वैलरी बरामद की है जिसकी कीमत करीब 40 लाख रुपए बताई जा रही है. एसएसपी शैलेश पांडेय ने सैटरडे को मामले का खुलासा करते हुए बताया कि दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.

यह है पूरा मामला

फ्राइडे रात को 11 बजे जंक्शन स्थित मनोरंजन सदन के पास अहसान उर्फ बोना और देवेंद्र बिजनौर जाने की फिराक में खड़े थे. तभी क्राइम ब्रांच की टीम ने घेराबंदी कर दोनों को हिरासत में ले लिया. तलाशी के दौरान उनके बैग से करीब 40 लाख रुपए की 1.234 ग्राम गोल्ड की ज्वैलरी मिली. पूछताछ में दोनो ने बताया कि वह कर्नाटक और तमिलनाडु में चोरी की वारदात को अंजाम देते हैं. वे एसी बसों के पैसेंजर्स को टारगेट करते है. सफर के दौरान रात में पैसेंजर्स के सो जाने पर उनके बैग से ज्वैलरी और कीमती सामान चोरी कर लेते थे. वहीं पकडे़ गए दोनों शातिर बिजनौर के रहने वाले हैं.

फेवीक्विक डालकर बच निकलते

पूछताछ के दौरान अहसान और देवेंद्र ने बताया कि चोरी करने के बाद वे पैसेंजर के बैग की चेन में फेवीक्विक डाल देते थे. जिससे उनके बैग की चेन नहीं खुलती थी और वे मौके का फायदा उठाकर आसानी से निकल जाते थे

दर्जन भर मामले हैं दर्ज

एसएसपी ने बताया कि वह दोनों लम्बे समय से इस तरह की वारदात को अंजाम दे रहे थे. उन पर तमिलनाडु के कोयम्बटूर मे दर्जन भर से ज्यादा एफआईआर दर्ज हैं. पुलिस शातिरों की गिरफ्तारी की जानकारी तमिलनाडु पुलिस को दे दी है.

वर्जन

क्राइम ब्रांच की टीम को बड़ी कामयाबी मिली है. दोनों चोर शातिर अपराधी है. पुलिस उनको गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

शैलेश पाण्डेय, एसएसपी