यह था मामला

सिविल लाइन थाना एरिया के सुभाषनगर में 11 सितम्बर को करन कौशिक की हत्या कर दी गई थी. इस मामले में पुलिस ने सलमान, सुहेल व ताज मोहम्मद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. गुरुवार को करन के पिता राकेश कौशिक भाजपा नेता सुनील भराला, सुनील शर्मा, ऋतु गोयल, जय गणेश वर्मा, मोनू समेत भाजपाइयों के साथ एसएसपी ऑफिस पहुंचे. कप्तान डीआईजी के साथ मीटिंग में थे तो सभी डीआईजी ऑफिस पहुंच गए.

नारेबाजी और हंगामा

पुलिस के खिलाफ नारेबाजी हुई तो एसएसपी ओंकार सिंह मीटिंग से बाहर आ गए. राकेश कौशिक ने एसएसपी को सौंपे ज्ञापन में चेतावनी दी है कि अगर बेटे के हत्याकांड की 26 जनवरी तक सीबीआई जांच नहीं हुई तो वह लालकिले पर आत्मदाह कर लेंगे. आरोप है कि पुलिस ने जांच में कुछ आरोपियों को राजनीतिक संरक्षण के चलते बचा लिया है. साथ ही आरोप लगाया कि चार माह बाद भी लाइसेंसी स्वीकृत नहीं हो पाया है. एसएसपी ने जल्द लाइसेंस मंजूर कराने और पेशी पर सुरक्षा आश्वासन दिया है.