- नगर आयुक्त के आदेश के बाद बनाई गई टीमें

- लापरवाही बरतने वाले अफसरों के खिलाफ होगी तत्काल कार्रवाई

बरेली : नगर आयुक्त और मेयर के बीच छिड़ी रार खत्म होने के बाद अब अधिकारियों ने शहरवासियों की समस्याओं पर ध्यान देना शुरू कर दिया है. सैटरडे को नगर आयुक्त सैमुअल पॉल एन ने अधिकारियों के साथ बैठक कर शहर में हो रहे जलभराव की समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए. साथ ही चेतावनी दी कि जिस अधिकारी के एरिया में जलभराव की समस्या मिली उसके खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाएगी.

बनाई गई 7 टीमें

शहर में बारिश के मौसम के मद्देनजर जलभराव की समस्या बनी रहती है. घनी आबादी वाले इलाके हों या पॉश एरिया लगभग सभी जगह थोड़ी सी बारिश में ही सड़कों पर पानी भर जाता है. वहीं शहर के निचले इलाकों में पानी घरों के अंदर भी भर जाता है. नगर आयुक्त के आदेश के बाद शहर के सभी 80 वार्डो में जलभराव की समस्या को खत्म करने के लिए पांच-पांच सदस्यों की सात टीमें बनाई गई हैं. टीमें अपने एरिया के नाले-नालियों की सफाई करेंगी, जिससे बारिश होने पर पानी की निकासी में कोई समस्या न आए.

इन क्षेत्रों की हुई पहचान

पिछले दो माह से शहर के ऐसे क्षेत्रों की पहचान की जा रही है जहां सड़कों पर जलभराव की समस्या रहती है. इनमें पुराना शहर, सुभाषनगर, जोगी नवादा, इंद्रा नगर और बांस मंडी में सबसे पहले जलभराव की समस्या को दूर किया जाएगा.

शिकायत पर तुरंत पहुंचेगी टीम

शहर के किसी भी एरिया में जलभराव होने की शिकायत नगर निगम के कंट्रोल में आते ही तत्काल संबंधित एरिया की टीम को मौके पर भेजकर समस्या का समाधान कराया जाएगा.

हर सप्ताह होगा निरीक्षण

जलभराव की समस्या के समाधान के लिए जो टीमें बनाई गई हैं वह नियमित रूप से काम कर रही हैं या नहीं इसकी निगरानी भी की जाएगी. टीमों के काम का सत्यापन करने की जिम्मेदारी अपर नगर आयुक्त ईश शक्ति कुमार सिंह को दी गई है. हर सप्ताह अपर नगर आयुक्त अपनी रिपोर्ट नगर आयुक्त को देंगे.

वर्जन

सड़कों पर जलभराव की समस्या को खत्म करने के लिए टीमों का गठन कर दिया है. हर सप्ताह निरीक्षण किया जाएगा खामियां मिलने पर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

ईश शक्ति कुमार सिंह, अपर नगर आयुक्त.