- स्टेट में 25 ग्रामीण मार्ग बंद

- वेडनसडे को 7.4 एमएम बारिश की गई दर्ज

DEHRADUN: आफत की बारिश लोगों के लिए मुसीबतों का पहाड़ बन गई है. हालात ये हैं कि स्टेट में 25 मार्ग दो दिनों से बंद पड़े हुए हैं. जहां-तहां पहाड़ों में पत्थर गिरने से लोगों की जान आफत में पड़ रही है तो वहीं शहर हो या गांव अधिकतर जगहों पर फोन नेटवर्क भी काम नहीं कर रहे हैं.

बारिश ने बढ़ाई मुसीबत

लगातार बरस रहे बादलों ने आम जनजीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है. पहाड़ों की जिंदगी मुसीबत में है. कहीं घर ढह जा रहे हैं तो कहीं रास्ते क्षतिग्रस्त हो रहे हैं. पेड़ गिरने की वजह से ऋषिकेश में एक मौत तक हो चुकी है. मसूरी में भी घर गिरने की वजह से लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी. डीएम बार-बार खुद मोर्चा संभालकर आपदा कंट्रोल रूम को अलर्ट रहने के दिशा-निर्देश दे रहे हैं. बावजूद इसके मुसीबत कम नहीं हो रही है.

चारधाम मार्ग पर फोकस

ग्रामीण मार्ग खुलने में भले ही एक से दो दिन लग जा रहे हैं. लेकिन चारधाम की ओर प्रशासन का मुख्य फोकस है. ऐसे में जैसे ही इन मार्गो पर मलबा आने, रास्ता टूटने आदि की शिकायत मिल रही तो स्थानीय स्तर पर डीएम खुद मॉनिटरिंग कर मार्ग खुलवा रहे हैं. इन जगहों पर त्वरित कार्रवाई हो जा रही है.

नेटवर्क नहीं, संपर्क टूटा

जगह-जगह नेटवर्क नहीं है. पहाड़ी क्षेत्रों में तो बुरा हाल है, लेकिन शहर में भी कई इलाके ऐसे हैं, जहां इन दिनों नेटवर्क की दिक्कत है. ऐसे में लोगों को एक जगह से दूसरी जगह तक संपर्क करने में भी दिक्कत हो रही है.

दून के ये मोटर मार्ग बंद

- खारसी मार्ग कालसी, लंबीधार किमाड़ी गढ़ी कैंट के पास ्र- सहिया-क्वानू मार्ग, चांदनी मार्ग चकराता

एक घंटे 50 मिनट हुई बारिश

वेडनसडे को एक घंटा 50 मिनट हुई बारिश ने ही आफत कर दी. इस दौरान कुल 7.4 एमएम बारिश मौसम विभाग की ओर से दर्ज की गई. जिसके चलते सड़क पर हर ओर पानी भर गया. गड्ढों में लोगों के वाहन फंस गए. वहीं जगह-जगह जाम की स्थिति से लोगों को जूझना पड़ा

ये मार्ग हैं बंद

दून-4

रूद्रप्रयाग- 1

उत्तरकाशी-1

टिहरी-5

पौड़ी-1

चमोली-7

नैनीताल-4

चंपावत-2

अब तक ऋषिकेश में एक कैजुएलिटी हुई है. इसके अलावा हालात नियंत्रण में हैं. आपदा कंट्रोल रूम को अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं.

- बीर सिंह बुदियाल, एडीएम, प्रशासन