- अब चेकिंग के नाम पर बेवजह परेशान नहीं कर सकेगी पुलिस

- यातायात निदेशालय ने एसपी औ्र एसपी ट्रैफिकको दिए निर्देश

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: चालान की नई दरें लागू होने के बाद वाहन चेकिंग को लेकर पुलिस और ट्रैफिक पुलिस सख्त हो गई है. अब सिर्फ हेलमेट और सीट बेल्ट की ही चेकिंग नहीं बल्कि गाड़ी के सभी कागजों की चेकिंग की जा रही है. इससे लोगों को परेशानी भी हो रही है. इसे ध्यान में रखते हुए यातायात निदेशालय ने सभी जिलों के एसपी और एसपी ट्रैफिक को निर्देश दिए हैं कि पेपर चेक करने के नाम पर लोगों को परेशान न किया जाए.

आईजी ट्रैफिक ने लिखा पत्र

आईजी ट्रैफिक राजेश मोडक ने सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों, एसपी ट्रैफिक व सभी आईजी जोन को लेटर लिखकर निर्देश भेजे हैं. इसमें कहा गया है कि नया मोटर वाहन कानून 1 सितंबर से लागू होने के बाद प्रदेश भर से तमाम शिकायतें मिल रही हैं. शिकायतें हैं कि वाहन चेकिंग के नाम पर लोगों को बेवजह प्रताडि़त किया जा रहा है.

नियम तोड़ने वाले नपेंगे

लेटर में लिखा गया है कि सिर्फ पेपर चेक करने के लिए न रोका जाए. प्रथम दृष्टया बिना हेलमेट, सीट बेल्ट व यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर ही लोगों को रोका जाए. इन लोगों के कागज चेक किए जा सकते हैं.

बाक्स

बड़े वाहनों पर फोकस

आईजी यातायात ने निर्देश दिए हैं कि टू व्हीलर की चेकिंग के साथ ही फोर व्हीलर विशेष रूप से एसयूवी आदि बड़े वाहनों की चेकिंग का विशेष ध्यान रखा जाए. यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध प्रवर्तन की कार्रवाई समान, निष्पक्ष व पारदर्शी रूप से की जाए. सभी एसपी, एसपी ट्रैफिक व्यक्तिगत रुचि लेकर अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को सतर्क करें और निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाए.