- बिना पास समर्थकों को गाड़ी में बिठाकर लोकभवन में ले जा रहे थे विधायक बांदा प्रकाश द्विवेदी

- पीडि़त सुरक्षाकर्मी ने की शिकायत

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: बिना पास के लोकभवन में समर्थकों को प्रवेश कराने से रोके जाने पर बांदा सदर से बीजेपी विधायक प्रकाश द्विवेदी बिफर पड़े. आरोप है कि उन्होंने सुरक्षा कर्मी को जमकर गालियां दीं और धमकी भी दी. इसके बाद वे जबरन गाड़ी में समर्थकों के साथ लोकभवन में प्रवेश कर गए. पीडि़त सुरक्षाकर्मी ने प्रतिसार निरीक्षक सुरक्षा से पूरे मामले की शिकायत की है.

गाड़ी पर भी नहीं था पास

लोकभवन की सुरक्षा में तैनात विधानसभा सुरक्षा दल का सुरक्षाकर्मी रवेंद्र कुमार बुधवार को सुबह 9 से दोपहर 2 बजे तक की शिफ्ट में गेट नंबर 3 पर ड्यूटी कर रहा था. रवेंद्र के मुताबिक, दोपहर करीब 1.20 बजे चार पहिया गाड़ी (यूपी90जी/0331) वहां पहुंची. गाड़ी पर विधायक बांदा प्रकाश द्विवेदी व उनके चार समर्थक बैठे थे. गाड़ी पर पास नहीं लगा था. लिहाजा, रवेंद्र ने विधायक द्विवेदी से पास दिखाने को कहा. रवेंद्र के मुताबिक, विधायक ने अपना पास दिखाया. इस पर उसने गाड़ी में बैठे अन्य लोगों का पास मांगा. लेकिन, उनके पास इंट्री पास नहीं था. इस पर रवेंद्र ने विधायक से कहा कि वे भीतर चले जाएं लेकिन, समर्थकों को गेट पर ही उतार दें.

शुरू कर दी गालीगलौज

रवेंद्र ने शिकायती पत्र में बताया कि बिना पास समर्थकों को भीतर दाखिल न होने देने की बात सुनते ही विधायक प्रकाश द्विवेदी भड़क उठे. आरोप है कि उन्होंने रवेंद्र को भद्दी-भद्दी गालियां दीं और कहा कि 'तुझे नौकरी करना सिखा देंगे. तुझे किसे अधिकार दिया पास चेक करने का'. आरोप है कि विधायक ने उसे पीटने की भी धमकी दी. हंगामा बढ़ता देख रवेंद्र ने एसआई शिव बरन पाल व एसआई अनुपम कुमार सिंह को मौके पर बुलाया. लेकिन, विधायक जबरन गाड़ी से समर्थकों के साथ लोकभवन में दाखिल हो गए. रवेंद्र की शिकायत पर उत्तर प्रदेश सचिवालय के प्रतिसार निरीक्षक (सुरक्षा) सुनील त्रिपाठी ने शिकायत को सचिवालय के मुख्य सुरक्षा अधिकारी को भेज दी है. उधर, जब इस मामले में विधायक प्रकाश द्विवेदी से फोन कर उनका पक्ष जानने के लिये फोन पर बात करने की कोशिश की गई लेकिन, कॉल रिसीव न हो सकी.