कोलकाता (पीटीआई)। पश्चिम बंगाल के अम्तला इलाके की एक महिला ने मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस के निलंबित नेता पार्थ चटर्जी पर चप्पल फेंकने का प्रयास किया। जब पार्थ को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारी अस्पताल से बाहर ले जा रहे थे महिला ने पार्थ पर चप्पल फेंकने का प्रयास किया, हालांकि महिला द्वारा फेंकी गयी चप्पल पार्थ को लगी नहीं।

मैं पार्थ को चप्पल से मारने आयी थी

पार्थ पर हमला करने वाली महिला शुभ्रा घोरुई ने कहा कि मैं यहां पार्थ चटर्जी को अपने चप्पल से मारने आयी थी। मैं नहीं सोच सकती कि उसने अपार्टमेंट के बाद अपार्टमेंट बनायें है, और इतनी नकदी जमा की है जब लोग बिना किसी नौकरी के सड़कों पर घूम रहे हैं। लोगों को धोखा देने के बाद वह एसी में यात्रा कर रहा है। उसे रस्सी से घसीटा जाना चाहिए। मैं नंगे पैर घर वापस चलूँगी। घोरुई ने मीडिया से कहा यह केवल मेरा ही नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल के लाखों-लाखों लोगों का गुस्सा है।

चप्पल लग जाती तो खुशी होती

महिला ने आगे कहा कि अगर चप्पल उसे लग जाती तो मुझे बहुत खुशी होती। मैं चप्पल वापस नहीं लूंगी। इससे पहले ईडी ने करोड़ों रुपये के शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच के सिलसिले में चटर्जी और मुखर्जी दोनों को 23 जुलाई को गिरफ्तार किया था। बता दें कि गिरफ्तार किए गए पूर्व टीएमसी नेता को मंगलवार को ईडी के अधिकारी मेडिकल चेकअप के लिए जोका के ईएसआई अस्पताल ले गए और पुलिस ने परिसर के अंदर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की थी।

National News inextlive from India News Desk