-दस प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर शहीद स्मारक पर चल रहा था आंदोलन

- आंदोलनकारी महिला ने खुद पर मिट्टी का तेल डालकर किया आत्मदाह का प्रयास

dehradun@inext.co.in

DEHRADUN : ख्ब् घंटे के अल्टिमेटम के बाद भी मांग पूरी न होता देख एक महिला ने आत्महत्या का प्रयास किया. पीडि़त राज्य आंदोलकारी महिला ने कचहरी स्थित शहीद स्मारक परिसर में खुद पर मिट्टी का तेल डालकर आत्मदाह की कोशिश की. वह सफल हो पाती इससे पूर्व ही पुलिस ने उसे पकड़ लिया. गंभीर हालत में उसे दून अस्पताल में दाखिल कराया गया, जहां उसका उपचार चल रहा है.

खुद पर छिड़का मिट्टी का तेल

दरअसल, उत्तराखंड पीडि़त आंदोनलकारी मंच सरकारी सेवाओं में दस प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलनरत है. सोमवार को मंच ने चेतावनी दी थी कि यदि ब्8 घंटे के अंदर उनकी मांग को विधानसभा सत्र में पटल पर नहीं रखा गया तो वह आत्मदाह करेंगे. आत्मदाह करने की चेतावनी नेशविला रोड निवासी (मां-बेटे)शकुंतला बमराड़ा व सूर्यकांत बमराडा ने दी थी.

खुद पर मिट्टी का तेल छिड़का

पुलिस प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए गुरुवार सुबह ही मां बेटे को हिरासत में ले लिया. इसके साथ ही धरना स्थल शहीद स्मारक पर पैनी नजर रखनी शुरू कर दी. इससे गुस्साई पीडि़त आंदोलनकारी मंच की सचिव वीरा भंडारी निवासी न्यू विकास कॉलोनी पौड़ी गढ़वाल ने कचहरी स्थित शहीद स्थल पर खुद पर मिट्टी का तेल छिड़क लिया. वीरा भंडारी ने जल्द से जल्द मां बेटे को छोड़ने की मांग करते हुए आत्मदाह का प्रयास किया, लेकिन वह इसमें सफल हो पाती इससे पूर्व ही पुलिस ने उसे पकड़ लिया.